Connect with us

3 कारण इसलिए करवा देना चाहिए घर की विधवा का जल्दी से जल्दी कहीं और विवाह, उसके रोने से घर में नहीं आती खुशियाँ

Widowed marriage IndiaWidowed marriage India

Widowed marriage India- भारत में शुरू से ही विधवाओं के विवाह को लेकर तरह-तरह की बातें की जाती रही है. कई तरीके के आंदोलन हुए हैं जिनके अंदर इस तरीके की आवाज उठाई गई की विधवाओं का विवाह जल्द से जल्द करवा देना चाहिए.

लेकिन भारत में तो जैसे विधवाओं का विवाह किसी पाप के समान होता है. ऐसा माना जाता है कि यदि एक बार एक स्त्री अगर विधवा हो जाए और छोटी सी उम्र में बेशक उसके पति का देहांत हो जाए तो उसके बाद पूरी उम्र उस महिला को एक सजा के समान यह जीवन भोगना होता है. आज हम वह 3 कारण आपको बताते हैं कि जिनकी वजह से शायद वो का विवाह जल्द से जल्द घरवालों को किसी दूसरे और सही व्यक्ति से करवा देना चाहिए- Widowed marriage India

Widowed marriage India

हर व्यक्ति को जीवन जीने की स्वतंत्रता है 

आपको बता दें कि यदि किसी स्त्री का पति छोटी उम्र में मर जाए या उसकी मृत्यु हो जाए तो उसकी सजा उस स्त्री को कभी नहीं मिलनी चाहिए. उस स्त्री का पूरा जीवन पड़ा हुआ है और  स्त्री को भी जीवन जीने की स्वतंत्रता का अधिकार भारतीय संविधान देता है.

पति की म्रत्यु की महिला को सजा नहीं मिलनी चाहिए और यही मुख्य कारण है कि जल्द से जल्द विधवा का विवाह घरवालों को किसी अन्य उपयुक्त व्यक्ति से करवा देना चाहिए. भारतीय समाज में अगर किसी पुरुष की पत्नी का देहांत हो जाए तो पुरुष को विवाह करने की पूरी पूरी आजादी है, लेकिन स्थिति के साथ ऐसा नहीं है/ यही अन्याय खत्म करने के लिए निश्चित रूप से विधवाओं के विवाह पर जल्द से जल्द कोई उपयुक्त कानून बन जाना चाहिए.

Widowed marriage India

घर में पति के बात पत्नियाँ हो जाती है मानसिक रूप से बीमार 

आपको बता दें कि इस तरीके के आंकड़े कई बार मेडिकल साइंस और अस्पतालों में सामने आए हैं कि पति की मृत्यु के बाद जो स्त्रियां सालों तक अपने घरों में बंद रहती हैं उनका मानसिक स्तर इतना गिर गया होता है कि वह पागलों की तरीके से व्यवहार करने लगती है. कहीं ना कहीं इस तरीके की स्त्रियों को मानसिक रोग घेरने लगता है और समाज में इनको पागल करार कर दिया जाता है. यही कारण है कि घर की ऐसी स्त्रियां जिनकी छोटी उम्र में पति की मृत्यु हुई है उनको जल्द से जल्द विवाह करके आगे जीवन संवारने का एक मौका और देना चाहिए.

Widowed marriage India

घर में ऐसी स्त्रियाँ लाती हैं अशुभ समय

अगर घर में कोई विधवा स्त्री होती है तो घर का प्रत्येक सदस्य घर के दुख और बुरे समय के लिए उसी को टोकता हुआ नजर आता है. वहीँ स्त्री अगर कोई सही काम भी करती है तो उससे यही सोचकर गलतियां हो जाती हैं कि कहीं मुझसे कोई गलती ना हो जाए. ताकि उसके घर वाले उसके टोकते हुए नजर आए. तो जल्द ही वह स्त्री घर के लिए एक अशुभ सदस्य बन जाती है.

Widowed marriage India

यही कारण है कि आप अपने घर में किसी अशुभ को रखें उससे बेहतर किसी और से विवाह करके उस स्त्री को जीवन संवारने का मौका मिलना चाहिए.

तो इन कारणों को पढ़ने के बाद आप हमें अपने जवाब कमेंट बॉक्स के जरिए जरूर दें कि क्या विधवाओं का विवाह कर देना चाहिए या फिर आप अगर विधवा विवाह के खिलाफ हैं तो कमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताएं जिसकी वजह से विवाह नहीं करना चाहिए.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in