आसिफा की दर्दनाक कहानी, पहली बार पढ़िए कि आसिफा के साथ दरिंदों ने क्या-क्या किया और मारने के बाद भी नहीं रूके दरिन्दे

Asifa case full story

Asifa case full story- कठुआ के आसिफा वाले केस में आपको बहुत कुछ सुनने को मिला है और बहुत कुछ अभी तक सुनने को बाकी रह गया है. आपको बता दें कि 8 साल की मासूम बच्ची को दरिंदों ने अपनी भूख मिटाने के लिए इस्तेमाल किया और उसको भूख मिटाने के बाद जान से ही मार दिया.

निश्चित रूप से आसिफा की इस कहानी में भारत को हिला कर रख दिया है. आसिफा नहीं जानती थी कि 10 जनवरी को दोपहर 12:00 बजे आज उसके साथ जो होने वाला है वह उसकी रूह को भी अगले सौ जन्म तक डराता रहेगा. Asifa case full story

Asifa case full story

8 साल की मासूम बच्ची भला कैसे जानती होगी कि यह सब क्या होता है. यह सब चीजें क्या होती हैं जो आप उसके साथ की जा रही हैं. लेकिन में मासूम बच्ची जो एक गरीब बाप की बेटी थी 10 जनवरी को करीब 12:30 बजे जंगल की ओर घोड़ों के लिए खाना खोजते खोजते एक ऐसी दुनिया में चली गई जहां से अब वह वापस नहीं आएगी.

Asifa case full story

इस शर्मनाक घटना के पीछे खुद पुलिस वाले और एक मंदिर के पुजारी का नाम सामने आ रहा है. 8 साल की आसिफा के साथ हफ्ते भर तक ऐसा घिनौना काम किया गया था कि आप भी पढ़कर रोने लगेंगे.

Asifa case full story

बकरवाल समुदाय की आठ साल की नाबालिग लड़की से बर्बर सामूहिक दुष्कर्म और उसके बाद हत्या मामले को लेकर जम्मू में तनाव पैदा हो गया है.  सामूहिक दुष्कर्म मामले और उसके बाद हुई कार्रवाई की जांच वह सीबीआई से कराने की मांग कर रहे हैं.

Asifa case full story

बारी बारी से उस 8 साल की मासूम के साथ 8 लोगों ने जो किया होगा उसको हम यहां लिख नहीं सकते हैं. ऐसा बताया जा रहा है कि आसिफा मर चुकी थी लेकिन लोगों की भूख नहीं मरी थी और उसके मरे हुए शरीर से भी भूख मिटाई जा रही थी. निश्चित रूप से इससे दर्दनाक कहानी इस भारतीय समाज की कुछ हो नहीं सकती है कि एक 8 साल की मासूम बच्ची के साथ इस तरीके से दरिंदे दरिंदगी करते हुए सामने आए हैं.

ऐसे लोगों के साथ क्या करना चाहिए, आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं. क्या हमारे देश का कानून कमजोर है जो इस तरीके के लोग बिना डरे एक 8 साल की मासूम बच्ची के साथ ऐसा कर रहे हैं. इसका जवाब भी आप हमें अपनी कमेंट के जरिए जरूर दें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*