राहुल गाँधी ने की पाकिस्तान से भारत माता की तुलना, जवाब दीजिये क्या राहुल को भारत देश से सरेआम माफ़ी मांगनी चाहिए

Congress chief Rahul Gandhi

Congress chief Rahul Gandhi– राहुल गांधी इस समय कांग्रेस के अध्यक्ष बन चुके हैं लेकिन इसके बावजूद भी वह अपनी जिम्मेदारी समझने का काम बखूबी निभाते हुए नजर नहीं आ रहे हैं.

कांग्रेस भारत देश की एक बहुत बड़ी पार्टी है और इस पार्टी के काफी लोगों ने देश की आजादी में बलिदान दिया है लेकिन राहुल गांधी उस बलिदान का अपमान करते हुए लगातार नजर आ रहे हैं. कर्नाटक में अगर कांग्रेस की सरकार जीडीएस के साथ मिलकर नहीं बना पा रही है तो इसके बाद में भारत की तुलना पाकिस्तान से कर देंगे और देश उनको माफ कर देगा ऐसा सोचना राहुल गांधी के लिए पाप से कम नहीं होगा.

Congress chief Rahul Gandhi

राहुल गाँधी को छोड़ कर आओ पाकिस्तान

राहुल गांधी लगातार इस तरीके के बयान देकर अपनी छवि को भारत में खराब करते हुए नजर आ रहे हैं. न जाने क्यों पार्टी का कोई भी सदस्य राहुल गांधी को यह नहीं समझा पा रहा है कि इस तरीके से भारत की तुलना पाकिस्तान से करने पर उनको आगे के चुनावों में मुंह की खानी पड़ सकती है.

Congress chief Rahul Gandhi

कर्नाटक में अगर कांग्रेस की सरकार नहीं बन पा रही है तो इसके पीछे मुख्य कारण उनकी हार हैं. आपको बता दें कि कांग्रेस को इस तरीके से कर्नाटक चुनाव के लिए छाती पीटते हुए नजर आ रही है कि जैसे उसको जनता ने बहुत बड़ा बहुमत दे दिया है.

Congress chief Rahul Gandhi

वह बेशक जीडीएस के साथ मिलकर सरकार बना रही है लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी इस तरीके से उट पटांग बयान देकर भारत देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करते हुए नजर आएंगे.

Congress chief Rahul Gandhi

जिस तरीके से राहुल गांधी ने भारत देश की तुलना पाकिस्तान से की है तो ऐसे में सवाल उठता है कि क्या राहुल गांधी को एक बार कुछ महीने पाकिस्तान में रह कर आना चाहिए. पाकिस्तान में अगर राहुल गांधी रहने लगेंगे तो उनको पता चलेगा कि वहां पर तो आवाज उठाना ही बहुत भारी पड़ जाता है.

भारत में रहकर तो राहुल गांधी बड़े आराम से भारत की आलोचना करते हुए भी नजर आ जाते हैं लेकिन पाकिस्तान में शायद ये काम करने पर राहुल गांधी के साथ क्या होगा इसका इतिहास उनको उठा कर देख लेना चाहिए. राहुल गांधी को जिस तरीके से भारी सिक्योरिटी भारत में मिली हुई है और भारतीय जनता का पैसा उनकी सुरक्षा में खप रहा है तो ऐसे में वह पाकिस्तान की तुलना भारत से कर लेंगे और जनता जवाब नहीं देगी यह सोचना गलत हो सकता है.

ऐसे में अगर एक बार पाकिस्तान में राहुल गांधी रह कर आएंगे तो उनको समझ आएगा कि बिना सुरक्षा के वहां पर रहना कितना भारी हो सकता है. भारत की जनता तो फिर भी एक बार को राहुल गांधी को बेपनाह प्यार करती हुई दिख रही है लेकिन पाकिस्तान की जनता क्या राहुल गांधी से प्यार कर पाएगी उनको वहां यह समझ में आ जायेगा. 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*