अरब देश में होती थी भगवान राम की पूजा, जरुर पढ़ें अरब में हिन्दुओं का हुआ सबसे बड़ा कत्लेआम

अरब देश में हिन्दू धर्म

अरब देश में हिन्दू धर्म- अरब देश बेशक आज एक मुस्लिम देश है लेकिन इतिहास में इस बात के पक्के सबूत हैं कि अर्ब में कभी हिन्दू रहा करते थे. सालों तक अरब के लोगों ने हिन्दुओं का सम्मान किया है. आज हम आपको इतिहास की पुस्तक कभी पराधीन नहीं हुआ भारत से एक ऐसे राज को बताने वाले हैं जिसको पढ़कर आप हैरान हो जाओगे.

इतिहास के लेखक रामेश्वर प्रसाद मिश्र अपनी पुस्तक में पेज 58 पर यह दावा करते हैं कि जो अरब देश आज मुस्लिमों का स्था बना हुआ है दरअसल यह कभी हिन्दुओं का देश हुआ करता था. तो आइये आपको आज हम अरब देश के हिन्दू होने की एक एतिहासिक कहानी बताते हैं- अरब देश में हिन्दू धर्म

अरब देश में हिन्दू धर्म

इस पुस्तक में लेखक बताता है कि अरब देश में शताब्दियों तक हिन्दुओं का प्रभाव रहा है. यहाँ सनातन लोगों एक मंदिर हुआ करते थे. आज भी यहाँ कई स्थलों पर दीवारों के ऊपर ईश्वर जैसी कला या तस्वीर मिल जाती हैं. जबकि इस्लाम में मूर्ति पूजा शुरू से ही नहीं हैं.

अरब देश में हिन्दू धर्म

लेखक बताते हैं कि अरब संस्कृति पर हिन्दू संस्कृति का प्रभाव हजारों सालों तक रहा है. मुसलमानों में चारा श्रेणियां होती हैं- शेख, सैयद, मुग़ल और पठान. अब यहाँ पुस्तक में बताया गया है कि सैयद वंश के प्रमुख जैनुल आबदीन, यह एक भारतीय माँ की संतान है. इनकी माँ सिन्धु देश की हिन्दू थीं.  भारत में मिलने वाले मसाले, यहाँ के रत्न और कपड़े, एक दम अरब में एक समान थे.

अरब देश में हिन्दू धर्म

अब इस इतिहास के सबूत से साबित होता है कि अर्ब देश में भी शायद तलवार के दम पर कत्लेआम हुआ और हिन्दुओं को दूसरे धर्म में लाया गया है. वैसे इतिहास की अन्य कई किताबों में भी इस बात को आप पढ़ सकते हैं अर्ब देश से जब हिन्दू धर्म खत्म हुआ तो उसके कई सालों बाद भी अरब में हिन्द वैध और बुद्धिमान लोगों को यहाँ सम्मानित किया जाता था.

आज सनातन धर्म के इतिहास की कई ऐसी कहानियां मौजूद हैं जो मिटा दी गयी हैं या फिर जला दी गयी हैं. लेकिन यह अध्याय जो आज हमने अरब देश का आपको बताया है उसके ऊपर जरुर एक बार रिसर्च करने की जरूरत है ताकि अगर अरब देश कभी हिन्दुओं का था तो यह सच दुनिया के सामने जरुर आये. 

 

यह भी जरुर पढ़ें- भविष्यवाणी- मंगल ग्रह पर था जीवन, परमाणु युद्ध ने किया मंगल को बर्बाद- अब है धरती की बारी

One Comment

  1. Ramveer Singh

    यही षड्यंत्र अभी भी जारी है और कश्मीर इसका जीता जागता उदाहरण है. आतंकवादियों के विडियो भी यही दिखाते हैं कि यह इस्लाम की लड़ाई है. लेकिन यह भारत में सफल नहीं होगा. *** रामवीर सिंह राजावत ***

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*