वीर महाराणा प्रताप ने हजारों सालों पहले लव जिहाद पर की थी भविष्यवाणी- मुग़ल पहले दोस्ती करते हैं और फिर हमारे घरों की स्त्रियों पर बुरी नजर डालते हैं

Maharana Pratap Prediction

Maharana Pratap Prediction- महाराणा प्रताप का नाम निश्चित रूप से आज भारत वर्ष के बच्चे-बच्चे ने जरूर सुना होगा. महाराणा प्रताप वही प्रताप जिससे अकबर भी थरथर कांपा करता था.  अकबर को कई बार ऐसा डर सताता था कि कहीं उसके राज्य में अचानक से ही महाराणा प्रताप ना आ जाए क्योंकि अगर वह एक बार आया तो सब तबाह कर जाएगा.

महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 ईस्वी को राजस्थान के कुंभलगढ़ दुर्ग में हुआ था. महाराणा प्रताप ने भगवान एकलिंग जी की कसम खाई थी कि जिंदगी भर उनके मुख से अकबर के लिए सिर्फ तुर्क ही निकलेगा और वे कभी अकबर को अपना बादशाह नहीं मानेंगे. अकबर ने उन्हें समझाने के लिए चार बार शांति दूतों को अपना संदेश भेजा था लेकिन महाराणा प्रताप ने अकबर की हर प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया था.

Maharana Pratap Prediction

आपको बता दें कि महाराणा प्रताप 72 किलो का कवच पहनकर 81 किलो का भाला अपने हाथ में रखते थे. भाला और कवच ढाल तलवार का कुल वजन मिलाकर 208 किलो बताया जाता था. राणाप्रताप 208 किलो वजन के साथ युद्ध के मैदान में उतरा करते थे. महाराणा प्रताप के एक बार सरेआम एक भविष्यवाणी की थी जो आज पूरी तरह से सही साबित हो रही है. आइये आपको महाराणा प्रताप की इस भविष्यवाणी के बारें में बताते हैं- Maharana Pratap Prediction

Maharana Pratap Prediction

महाराणा प्रताप की भविष्यवाणी

महाराणा प्रताप का प्रण था की बाप्पा रावल का वंशज, अपने गुरु, भगवान, और अपने माता-पिता को छोड़कर किसी के आगे शीश नहीं झुकाएगा. महाराणा अपनी सारी जिंदगी अपने दृढ़ संकल्प पर अटल रहे, वे अकबर को ‘बादशाह’ कह कर सम्बोधित कर दे ऐसा असंभव माना जाता था.

Maharana Pratap Prediction

महाराणा प्रताप ऐसा बोला करते थे कि अकबर एक तुर्क है और हमेशा एक तुर्क ही रहेगा, मुग़ल पहले हमारे साथ मित्रता का हाथ बढ़ाते हैं फिर अपनी बुरी दृष्टी हमारे घर की स्त्रियों पर डालते है”, और ये हम सभी भी जानते है की उनका सोचना बिलकुल सही है.

महाराणा प्रताप ने अपनी जीवन में एक भविष्यवाणी की थी इन्होंने एक बार बोला था कि हमारा हिन्दू धर्म जैसा है वैसा ही रहेगा, हमारा भारतवर्ष देश जैसा है वैसा ही रहेगा, पर एक दिन ऐसा आएगा की हमारी इस पवित्र भूमि से मुगलों का नामोनिशान मिट जायेगा.

मुगलों का काम भी भारत की स्त्रियों पर गन्दी निगाह डालना होता था और महाराणा प्रताप की वाणी से भी कुछ यही झलका था और इसीलिए महाराणा प्रताप ने अकबर से दोस्ती नहीं की थी. किन्तु आज भी हिन्दुओं की बेटी पर स्त्रियों के साथ कौन क्या कर रहा है इसका उदाहरण तो खुद लव जिहाद से समय-समय पर सामने आ ही रहा है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*