किस्सा भारत में हुई दो कुत्तों की शादी का और इस शादी में नाचे थे हाथी-घोड़े, खर्चा सुनकर आपके पैरों के नीचे से जमीन निकल जाएगी

जूनागढ़ की रियासत में दो कुत्तों की शादी

जूनागढ़ की रियासत में दो कुत्तों की शादी- भारत में आज भी कई सारे ऐसे रोमांचक रहस्य बाकी हैं जिनके बारें में भारत की नई पीढ़ी को बहुत कम मालूम है. आजादी के पहले का इतिहास तो भारत में जैसे लिखा ही नहीं गया है. असल में समस्या यह है कि जिन लोगों पर सही इतिहास लिखने की जिम्मेदारी थी वह लोग भी अपनी जिम्मेदारी से पीछे हट गये थे.

तो ऐसा ही एक किस्सा आजादी से पहले का है. भारत में रियासत ऐसी भी थी जिसके बारें में गद्दार होने का कलक ज्यादा जुड़ा हुआ है. इस गद्दार रियासत की कहानी तो आपको बाद में बतायेंगे लेकिन आपको पहले इस रियासत में हुए दो कुत्तों की शादी का बताते हैं. जूनागढ़ की रियासत में दो कुत्तों की शादी

 

जूनागढ़ की रियासत में दो कुत्तों की शादी

 

जूनागढ़ की रियासत आजादी के समय एक आजाद रियासत थी. अंग्रेजों ने इस रियासत को भी बाकी रियासत की तरह से ही आजादी दी थी कि वह पाकिस्तान या भारत दोनों में से किसी देश में शामिल हो सकते थे. 15 अगस्त 1947 को भारत तो आजाद हुआ था लेकिन इसके दो दिन बाद ही यह खबर आग की तरह से भारत में फ़ैल गयी थी कि गुजरात का जूनागढ़ अब पाकिस्तान में शामिल हो गया है. इस रियासत के नवाब थे मोहम्मद महाबत खान.

जब महाबत खान की पाकिस्तान में शामिल होने की खबर अख़बारों में गयी तो जैसे बवाल आ गया था. जूनागढ़ की 6 लाख से ज्यादा की जनता में हाहाकार शुरू हो गया था. नवाब साहब के इस पाक में शामिल होने के काम को आज भी जनता गद्दारी की नजर से देखती है.  इसके बारे में हम आपको अगले लेख में बतायेंगे. लेकिन आज हम आपको नवाब महाबत खान के एक अजीब शौक की कहानी बताते हैं जिसको लेकर भारत की काफी जग हँसाई हुई थी.

जूनागढ़ की रियासत में दो कुत्तों की शादी

नवाब जी ने कराई दी अपने कुत्तों की शादी

यहाँ कहानी आजादी से पहले की है. नवाब महाबत खान अपने कुत्तों से काफी प्यार किया करते थे. इनका यह प्यार ही एक बार भारत के लिए जग हँसाई का काम हुए था. इतिहास की किताबों में लिखा हुआ है कि नवाब महाबत खान को अपने कुत्तों से काफी प्यार था. यह प्यार ना जाने कैसे बेहूदगी पर उतर आया था. इस शादी में उस समय के हिसाब से लाखों का खर्चा हुआ था.

जूनागढ़ की रियासत में दो कुत्तों की शादी

एक बार नवाब खान ने अपने दो अलग-अलग लिंग के दो कुत्तों की शादी कराई थी. इस शादी में काफी अच्छी बारात भी आई थी और मेहमानों को शाही दावत भी दी गयी थी. रियासत की जनता कैसी है, या कैसी नहीं है इससे नवाब महाबत खान को कोई खास फर्क नहीं था किन्तु कुत्तों की शादी काफी शाही हुई थी. इससे भी आगे जाकर नवाब साहब ने यह काम किया था कि अगले दिन रियासत में सरकारी छुट्टी दी गयी थी. नवाब महाबत खान के इस काम को आप किस नजर से देखते हैं इसके ऊपर आप कमेन्ट करके जरुर बतायें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*