भारत की सरकार अपने लोगों को 78 रुपैय लीटर तेल बेच रही है, तेल की वजह से मोदी हारने वाले हैं लोकसभा 2019 का चुनाव

भारत की सरकार अपने लोगों को 78 रुपैय लीटर तेल बेच रही है

भारत में पेट्रोल और डीजल हमेशा चर्चा का विषय बना रहता है.भारत के लोग पेट्रोल और डीजल की बढ़ती दामों से परेशान हो चुके हैं.वहीं यह अन्य देशों में आधी कीमत में बेची जा रही है.सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक समाचार रिपोर्ट ने दावा किया है कि भारत पेट्रोल को 15 देशों में 34 रुपये प्रति लीटर से बेच रहा है.

जबकि डीजल 29 देशों में 37 रुपये प्रति लीटर से निर्यात किया जा रहा है.यह खबर चौंकानेवाली तो है ही इसके अलावा यह जाहिर कर रही है कि हमारे साथ धोखा हो रहा है.

भारत की सरकार अपने लोगों को 78 रुपैय लीटर तेल बेच रही है

लेकिन हम आपको बता दें यह हम नहीं कह रहे हैं यह बोल रहा है वह RTI रिपोर्ट जो पंजाब के लुधियाना में रहने वाले रोहित सबरवाल ने प्राप्त किया है. वैसे तो राजनीतिक दल के हर विपक्षी पार्टी इस को मुद्दा बनाकर हर बार शोर शराबा करते हैं. लेकिन यही विपक्ष पार्टी अगर सत्ता पर आते हैं तो अपने हर वादे हर नारे को भूल जाते हैं.

भारत की सरकार अपने लोगों को 78 रुपैय लीटर तेल बेच रही है

तभी तो आम जनता इतना कष्ट उठा रही है. लेकिन यह सनसनी खुलासा पूरे भारतीय लोगों को आंख खोलने को मजबूर कर रहा है.वही यह खबर सोशल मीडिया में आने के बाद इसको लेकर क‌ई जगह राजनीति भी शुरू हो गई है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का कहना है ”RTI ने खोली भाजपा की पोल,

दूसरे देशों को मोदी सरकार बेच रही सस्ता डीज़ल-पेट्रोल!

भारतवासियों को दोगुने दाम में मिल रहा तेल,

विदेशियों को सस्ता बेच,मोदी सरकार कर रही ‘रुपये’ को फ़ेल! अमरीका व इंग्लैंड जैसे देशों पर मोदी जी मेहरबान,

आम भारतीय के बजट को पहुँचाया गहरा नुक्सान!”

भारत की सरकार अपने लोगों को 78 रुपैय लीटर तेल बेच रही है

जानकर हैरानी होगी कि भारत अमेरिका, इंगलैंड, ईराक, इजराइल, जोरडन, ऑस्ट्रेलिया, हांगकांग, सिंगापुर, साऊथ अफरीका, मॉरीशियस, मलेशिया, यू.ए.ई. सहित अन्य कई देशों में आधे दाम में बेचता है. तो आप देख सकते हैं कैसे लोग सत्ता की कुर्सी में बैठकर हमें नचा रहे हैं.इसीलिए अब जरूरत है कि अपनी बंद आंखों को खोल ले और आने वाले 2019 के चुनाव में सही फैसला ले. (जया कुमारी)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*