देश में हुआ सबसे बड़ा सर्वे- इतने प्रतिशत लोगों ने बोला हां राहुल गाँधी अकेले नरेंद्र मोदी को टक्कर दे सकते हैं

Rahul Gandhi vs Narendra Modi

Rahul Gandhi vs Narendra Modi– 2019 के चुनावों में राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच में सीधी सीधी टक्कर होने वाली है. कर्नाटक चुनाव में राहुल गांधी ने यह साफ कर दिया है कि वह भी प्रधानमंत्री बनने के प्रबल दावेदार बन चुके हैं. अगर कांग्रेस पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव जीत जाती है तो निश्चित रूप से राहुल गांधी ही भारत देश के अगले युवा प्रधानमंत्री बन जाएंगे.

तो वहीँ देश के एक बहुत बड़े मीडिया समूह दैनिक भास्कर ने एक सर्वे में लोगों से सवाल पूछा है कि क्या राहुल गांधी, नरेंद्र मोदी को टक्कर दे सकते हैं? तो आइए आपको बताते हैं कि कितने प्रतिशत लोगों ने बोला है कि हां राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी को टक्कर देते हुए नजर आ सकते हैं-

Rahul Gandhi vs Narendra Modi

मोदी को मिलेगी राहुल से कड़ी टक्कर

बेशक कांग्रेस और राहुल गांधी को लगता है कि अब समय आ गया है कि मोदी को सीधे सीधे टक्कर दी जाए. 2019 के चुनाव के लिए अगर कांग्रेस को तैयारियां शुरू करनी है तो इससे अच्छा समय कुछ नहीं हो सकता है.

Rahul Gandhi vs Narendra Modi

जनता इस समय महंगाई और बेरोजगारी से परेशान है. युवाओं को जो सपने दिखाए गए थे वह सपने पूरे होते हुए नजर नहीं आ रहे हैं और यही कारण है कि कांग्रेस अब सीधे सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए नजर आ रही है.

Rahul Gandhi vs Narendra Modi

तो वहीं एक सर्वे में ऐसा खुलासा हुआ है कि मात्र 22% लोगों को ही ऐसा लगता है कि राहुल परिपक्व हो गए हैं और अब वह नरेंद्र मोदी को टक्कर देते हुए नजर आ सकते हैं.

Rahul Gandhi vs Narendra Modi

30 फ़ीसदी लोगों को लगता है कि राहुल परिपक्व तो हुए हैं लेकिन अभी भी वह नरेंद्र मोदी को टक्कर नहीं दे सकते हैं.

वही 48 लोगों को ऐसा लगता है कि राहुल गांधी जैसे पहले थे, अभी भी वैसे ही हैं और मोदी और उनका कोई भी मुकाबला नहीं हो सकता है.

निश्चित रूप से राहुल गांधी के लिए यह खबर अच्छी नहीं है कि देश के मात्र 22 फीसदी लोग ही उनको नरेंद्र मोदी के सामने खड़ा हुआ मान रहे हैं. बाकी लोग राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी का मुकाबला करना सही नहीं बोल रहे हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*