गुजरात चुनाव- राहुल गाँधी की वो गलतियाँ जिनका भयानक आने वाला है चुनाव नतीजों में परिणाम

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 – गुजरात चुनाव को लेकर मौसम काफी गर्म है. राहुल गाँधी वैसे लगातार अच्छी तरह से बीजेपी पर वार कर रहे हैं. जुमले की राजनीति पर हँसने वाले राहुल भी जुमले की राजनीति कर रहे हैं. गुजरात में युवाओं की नौकरी की बात करके एक बार को राहुल ने बाजी मार ली थी लेकिन हार्दिक पटेल और होटल में मुलाकात वाले किस्से से राहुल की बड़ी किरकिरी हो रही है.

जो जनता राहुल पर विश्वास कर रही थी उनके सामने अब फिर से एक बार सूचना गयी है कि राहुल गुपचुप चीजों से कभी बाज नहीं आ सकते हैं. वहीँ गुजरात से मिल रागही खबरों के अनुसार हार्दिक पटेल का पुतला तो खुद गुजराती युवक अब फूंकते हुए नजर आ रहे हैं. दरअसल जो आन्दोलन आरक्षण को लेकर था वह अब राजनीति और टिकट तक सीमित हो गया है. तो आइये आपको बताते हैं कि राहुल गाँधी वो कौन-सी गलती कर गये हैं कि राहुल के पैरों के नीचे से जीत निकली दिख रही हैं- गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 

दरअसल राहुल गाँधी आरक्षण पर चुप हैं

पाटीदार लोगों को आरक्षण चाहिए. जिन लोगों को ऐसा लगता है कि हार्दिक पटेल की पकड़ पूरे पाटीदार समाज पर है तो वह गलत है. आपको बता दें की पाटीदार समाज में बमुश्किल कुछ ही प्रतिशत लोग हार्दिक की सुनते हैं. वहीँ राहुल गाँधी अच्छी तरह से जानते हैं कि दलित और ओबीसी का आरक्षण काट कर ही पाटीदार लोगों को आरक्षण दिया जा सकता है. सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों से बाहर आकर तो पाटीदारों को आरक्षण मिलने वाला है नहीं.

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 
गुजरात विधानसभा चुनाव 2017

तो ऐसे में जनता को बीजेपी ने यह समझा दिया है कि पाटीदारों के आरक्षण पर हार्दिक राहुल से बात ही नहीं कर रहे हैं. वहीँ अल्पेश ठाकोर पहले ही कांग्रेस में थे और इनका परिवार भी कांग्रेस से जुदा रहा है इसलिए जनता समझ गयी है कि आखिर किन शक्तियों से प्रेरित होकर अल्पेश राहुल के साथ गये हैं.

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 

वहीँ दलित नेता जिग्नेश मेवानी का जेएनयू छात्र और आज़ादी के नारे के लिए मशहूर छात्र नेता कन्हैया के साथ मंच साझा करते हुए वीडियो दिखाया जा रहा है जिससे जनता अल्पेश को अपने हिसाब से समझ पा रही है. ऐसे में राहुल गाँधी ने इन युवा नेताओं का बेकग्राउंड बिना जांचे अपने साथ लेकर खुद के लिए समस्या ही पैदा की है. अभी के हालात राहुल गांधी की गुजरात में हार की और इशारा कर रहे हैं. अगले हफ्ते गुजरात के हालातों पर जमीनी हकीकत के साथ हम फिर हाजिर होंगे.

 

यह भी जरुर पढ़ें-

राष्ट्रपति ने बोला कि मुझे बस उनकी लाशें चाहिए, तो सेना ने मिनटों में मारें यहाँ 1000 आतंकी

 

गुजरातियों का डीएनए है मोदी- 3 कारण इसलिए गुजरात में मोदी को हराना बच्चों का खेल नहीं बाबा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*