इसे कहते हैं मोक्ष धाम- कोई व्यक्ति अगर इस मंदिर में 3 दिन 3 रात रुक जाए तो वह जीवन मरण की मृत्यु के चक्कर से मुक्त हो जाता है

Char Dham Yatra

Char Dham Yatra– चार धाम यात्रा हिंदुओं की ऐसी यात्रा है जो हर हिंदू अपने जीवन में करना चाहता है. इस यात्रा में जाकर जो आत्मा को सुकून मिलता है वह आपको जीवन में कभी नहीं प्राप्त हो सकता है. हर किसी का अरमान होता है कि वह अपने जीवन में एक बार चार धाम की यात्रा जरूर करें.

ऐसे में हमें चार धाम की यात्रा करने से पहले उसकी जानकारी होनी चाहिए इसलिए आज हम आपको चार धाम की बारे में सारी जानकारियां देने जा रहे हैं.

 

क्या है चार धाम

चार धाम भारत के 4 धार्मिक स्थलों का समूह है. इस पवित्र स्थल के अंतर्गत भारत के चार दिशाओं के महत्वपूर्ण मंदिर आते हैं क्योंकि असल में इन चार धाम की स्थापना भारत के चार अलग-अलग जगह में हुई है. भारत में चार धाम का मतलब है – पूरी, रामेश्वरम ,द्वारका और बद्रीनाथ. इन मंदिरों को 8 वीं सदी में आदि शंकराचार्य ने  जोड़ा था. इन सारे मंदिरों में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मंदिर कौन सा है इसका अनुमान लगाना थोड़ा कठिन है. लेकिन बद्रीनाथ सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि बद्रीनाथ सबसे ज्यादा तीर्थ यात्रियों द्वारा दर्शन करने वाला मंदिर है.

Char Dham Yatra

बद्रीनाथ धाम

बद्रीनाथ उत्तर दिशा मैं हिमालय पर अलकानंदा नदी के समीप नर और नारायण पर्वतों के बीच स्थित है. माना जाता है कि इस स्थान में विष्णु जी ध्यानमग्न रहते  हैं. इस स्थान में विष्णु जी की शालिग्राम शीला से बनी मूर्ति स्थापित की गई है. इसके आसपास बाई ओर उद्धवजी तथा दाएं और कुबेर की प्रतिमा भी रखी गई है. इस मंदिर में नर और नारायण के अलावा लक्ष्मी, शिव -पार्वती और गणेश जी की मूर्ति भी है.

Char Dham Yatra

द्वारका धाम

द्वारका धाम पश्चिम दिशा में गुजरात के देव भूमि द्वारका जिले में स्थित है. इस धाम का नाम द्वारकापुरी जिले से रखा गया है. यह धाम दरसल समुद्र के किनारे है. हिंदू धर्म ग्रंथ के अनुसार यह  धाम श्री कृष्ण जी की कर्मभूमि मानी जाती है. इस जहां में श्रीकृष्ण की प्रतिमा रखी गई है. यह सात पुरियों में से एक पूरी भी है.

Char Dham Yatra

रामेश्वरम धाम

रामेश्वर धाम हिंदुओं का प्रसिद्ध तीर्थ माना जाता है. रामेश्वरम धाम की स्थापना दक्षिण दिशा में तमिलनाडु रामनाथपुरम जिले के समुद्र के तट पर की गई है. मंदिर में एक विशाल शिवलिंग है जहां लोग जाकर उनकी पूजा करना बहुत पसंद करते हैं. लोगों के लिए बड़ी मान्यता है.

Char Dham Yatra

जगन्नाथपुरी धाम

जगन्नाथपुरी भारत के पवित्र स्थानों में से एक है. जगन्नाथ पुरी उड़ीसा के पुरी में है. यह माना जाता है कि अगर कोई व्यक्ति 3 दिन 3 रात इस मंदिर में रुक जाए तो वह जीवन मरण की मृत्यु के चक्कर से मुक्त हो जाता है. दरअसल इस मंदिर में विष्णु जी के नीलमाधव प्रतिमा स्थापित है जो जगन्नाथ कहलाती है. यहां पर सुभद्रा और बलभद्र की प्रतिमाएं भी स्थित है.

यह चार धाम की पूरी जानकारी  आपके लिए जरूरी है. अगर आपके भी अपने जीवन में कोई मन्नत है और वह पूरी नहीं हो रही है तो चार धाम की यात्रा जरूर करें. वहां जाकर आप की हर मुराद पूरी होगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*