Connect with us

Google पर लोगों ने सबसे ज्यादा सर्च की रामनाथ कोविंद की जाति, आप खुद देखिये रिजल्ट निकलकर क्या आता है

रामनाथ कोविंद की जाति

बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद आज हमारे देश के राष्ट्रपति बन चुके हैं. वैसे तो इनसे पहले 13 और थे जिन्होंने राष्ट्रपति की शपथ ली थी. लेकिन ऐसी क्या बात है जिसकी वजह से आज हम रामनाथ कोविंद के बारे में आज हम बात कर रहे हैं वह हमारे लिए बेहद जानना जरूरी है.

बात यह है कि रामनाथ कोविंद देश के ऐसे पहले राष्ट्रपति है जिनकी जाति जाने के लिए लोगों ने गूगल किया. बता दे राष्ट्रपति चुनाव के वक्त एनडीए ने यूपी से रामनाथ कोविंद को चुना तो सबके होश उड़ गए. उनके लिए चौंकाने वाली बात यह थी कि इस बार हमारे राष्ट्रपति एक दलित होंगे.

रामनाथ कोविंद की जाति

उनका नाम जैसे ही ऐलान हुआ सब ने उनकी जाति जाने के लिए गूगल करना शुरू कर दिया.गूगल सर्च इंजन में यही दिखाई दिया कि सबसे ज्यादा लोगों ने रामनाथ कोविंद की जाती को जानने की कोशिश कर रहे हैं.

रामनाथ कोविंद की जाति

यहां तक कि लोग उनकी शादी, उनका घर परिवार उनकी पत्नी के बारे में भी जानने की कोशिश करने में लगे हुए हैं. जानकर हैरानी होगी कि भले ही रामनाथ कोविंद जाति से दलित है लेकिन उनमें मानवता कूट-कूट कर भरी हुई हैं.

रामनाथ कोविंद की जाति

आप देख सकते हैं कि राजनीति मैं होने के बावजूद इनका नाम कभी भी विवादों में नहीं आया. जब बात इनकी स्वच्छ स्वभाव और पवित्र मन की पुष्टि करता है. यहां तक कि यह भी बताता है कि इनके जैसा बेहतर लीडर राजनीतिक क्षेत्र में होना नामुमकिन है.दो बार राजयसभा के सदस्य होने और तमाम राजनैतिक पदों पर रहने के बाद भी रामनाथ कोविंद को कभी भी विवादों में नहीं पाया गया.

कोविंद जी यूपी से पहले राष्ट्रपति है जिनका सामना और विरोध कोई अन्य पार्टी शायद ही कर पाए. आज वह इतने मजबूत है कि समाजवादी पार्टी के न मुलायम सिंह और न अखिलेश यादव उनके सामने खड़े हो सकेंगे.

इस बात से तो शायद मायावती भी परेशान है क्योंकि रामनाथ कोविंद के आने के बाद हो सकता है उनके वोटस कम हो जाए. सही मायने में देखा जाए तो कांग्रेस के ऊपर खतरा मंडरा रहा है.(जया कुमारी)

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in