Connect with us

इंडिया

भारतीय रेलवे में हुई 4 करोड़ की सबसे बड़ी चोरी, इनमें 1.95 लाख तौलिये, 81,736 चादरें, 7,043 कंबल और फ्लश पाइप तक भी हैं शामिल

last-year-millions-of-items-got-stolen-from-indian-railway

रेल में चोरी होना कोई बड़ी बात नहीं हैं लेकिन यदि चोरी करने की हद ही हो जाए तो बड़ी बात बन जाती हैं. भारतीय रेल में चोरी के मामले सामने आते रहते हैं लेकिन पिछले साल के आंकड़ों ने सबको चौका दिया.

एक तरफ भारत सरकार रेल यात्रियों के लिए हर प्रकार की सुविधा देने की कोशिश कर रही हैं. वहीं कुछ यात्री रेल के सामानों की चोरी कर सभी के लिए मुसीबत खड़ी कर रहें हैं. चोरी करने वाले जरा भी नहीं सोचते कि जिस ट्रेन में वो सफर कर रहे हैं वो सभी के लिए कितनी जरूरी है. चोरी किए हुए सामान की लिस्ट भी काफी लम्बी है, जिसमें तौलिए, तकिए, चादर, मग, नल और फ्लश पाइप भी शामिल हैं.  

last-year-millions-of-items-got-stolen-from-indian-railway

वेस्टर्न रेलवे ने जारी किए चोरी के सामान के आंकड़े

हाल ही में वेस्टर्न रेलवे ने पिछले साल हुई चोरी के आंकड़े पेश किए जो काफी हद तक चौका देने वाले है. लंबी सफर वाली ट्रंनों से 1.95 लाख तौलिए, 81,736 चादरें, 5,038 तकिए, यहां तक की 55,573 तकियों के कवर और 7,043 कंबल चोरी  किए गए. सिर्फ यहीं नहीं चोरी करने वालों ने टॉयलेट को भी नहीं छोड़ा. 200 टॉयलेट मग, 1000 नल और 300 फ्लश पाइप भी उखाड़ कर ले गए.

last-year-millions-of-items-got-stolen-from-indian-railway

इस रिर्पाट में कहा गया कि तौलिए, तकिए, चादर, मग, नल और फ्लश पाइप आदि चोरों की पहली पसंद होते है. 2017—2018 में सुरक्षा बलों ने 2.97 करोड़ का सामान बरामद किया था.

सेंट्रल रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी सुनिल उदासी ने बताया कि इस साल के अप्रैल से सिंतबर के बीच करीब 79,350 छोटे तौलिए, 27,545 चादरें, 2,150 तकिए और 2,065 कंबल आदि चोरी हो चुके हैं जिनकी कीमत 62 लाख के करीब बताई गयी है.

last-year-millions-of-items-got-stolen-from-indian-railway

यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे प्रशासन समय-समय पर नई चीजों को शामिल करती रही हैं लेकिन हर साल मुसाफिरों की ऐसी हरकतों से रेलवे सिस्टम को भारी नुकसान का सामना करनी पड़ता हैं.

रेल में चोरी को कम करने के लिए हर सफर करने वाले को जागरूक होने की जरूरत है ताकि चोरी करने वालों को रोका जा सकें.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in इंडिया