Connect with us

सनसनीखेज खुलासा- 3 कारण इसलिए गोली लगने से पहले महात्मा गाँधी चाहते थे, कांग्रेस मुक्त भारत

महात्मा गांधी चाहते थे कांग्रेस को खत्म करना

द कलेक्टेड व‌र्क्स ऑफ महात्मा गांधी-वॉल्यूम 90′ के अंदर यह साफ़-साफ बताया गया है कि अपनी मृत्यु के कुछ साल पहले खुद महात्मा गाँधी कांग्रेस को खत्म करना चाहते थे. महात्मा गाँधी को ऐसा लगने लगा था कि जी सकामा के लिए कांग्रेस का निर्माण हुआ था अब वह पूरा हो गया है इसलिए जल्द से जल्द कांग्रेस को भंग कर दिया जाए.

वहीँ जब महात्मा गाँधी ने यह विचार अपने कुछ करीबी लोगों को बताये तो इसके तुरंत बाद ही महात्मा गाँधी की हत्या हुई थी. गान्धी जी की हत्या की दुबारा जांच की मांग भी इस आधार पर उठाई जाती रही है. चलिए तो आपको आज हम बताते हैं कि आखिर वह कौन-से 3 कारण रहे होंगे जिनकी वजह से गाँधी करना चाहते थे कांग्रेस खत्म-महात्मा गांधी चाहते थे कांग्रेस को खत्म करना

महात्मा गांधी चाहते थे कांग्रेस को खत्म करना

पहला कारण- महात्मा गाँधी को ऐसा शायद लग रहा था कि कांग्रेस का अब मौजूदा स्वरुप किसी काम का नहीं रह गया है. पहले जो कांग्रेस बने गयी थी उसका उद्देश्य देश को आजाद कराना था. आज देश को आज़ादी मिल गयी है और अब कांग्रेस का उद्देश्य खत्म हो गया है. इसलिए शायद महात्मा गांधी चाहते थे कांग्रेस को खत्म करना.

महात्मा गांधी चाहते थे कांग्रेस को खत्म करना

दूसरा सबसे जरुरी कारण- महात्मा गाँधी अपनी मृत्यु के कुछ ही साल पहले शायद ऐसा महसूस कर चुके थे कि जिस काम के लिए कांग्रेस का निर्माण किया गया था. आज वह नेता सिर्फ और सिर्फ देश पर राज कर रहे हैं और दिशा से भटक रहे हैं. कांग्रेस का निर्माण जनता की सेवा के लिए हुआ था लेकिन आज़ादी के बाद अंग्रेज गये तो देशी लोगों ने लोगों पर राज करना शुरू कर दिया था.

महात्मा गांधी चाहते थे कांग्रेस को खत्म करना

तीसरा और अंतिम कारण- कांग्रेस को खत्म करने की सोचने का तीसरा कारण यह भी हो सकता था कि महात्मा गांधी को नजर आ रहा था कि अब राजनीति में देश के अन्य लोग नहीं आ पा रहे हैं यहाँ तो वही लोग बैठे हैं जो कांग्रेस के साथ पहले से जुड़े हुए थे. अब ऐसे में देश को नया विकल्प देने के लिए शायद गाँधी कांग्रेस खत्म करना चाहते थे.

तो हो सकता है कि यह 3 कारणों से शायद महात्मा जी कांग्रेस को खत्म करना चाहते हो लेकिन उससे पहले ही गाँधी जी की हत्या हुई और यह मिशन अधूरा ही रह गया था. 

 

यह भी जरुर पढ़ें- भारत में शौच का आविष्कार- मुस्लिमों से करोगे हिन्दू तुम प्यार, बड़ी रोचक है घर में पहली लैट्रिन बनने की कहानी

2 Comments

2 Comments

  1. Gurmeet

    November 17, 2017 at 8:49 am

    Hmara fhesla aaj bi yhi h ki jabse kongres sarkar aai hogi usi same se hi chhote peso ki barbadi hui hogi

  2. SK patra

    November 17, 2017 at 1:42 pm

    Its real pleSe close that chapter now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in