पढ़िए अमित शाह का 5 सूत्रीय ख़ुफ़िया प्लान जो नरेंद्र मोदी जो फिर से 2019 का बना देगा प्रधानमंत्री

Amit Shah Lok Sabha Election

Amit Shah Lok Sabha Election– मिशन लोक सभा 2019 का काउंटडाउन शुरु हो चुका है. सभी पार्टियां इसकी तैयारी में लग चुकी हैं. कर्नाटक में जो भी नाटक हुआ वो सिर्फ वहां के राजनीतिक उठापकट के कारण नहीं था बल्कि उसका दूरगामी उद्देश्य 2019 का आम चुनाव था. पिछली बार पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई भारतीय जनता पार्टी इस बार भी अपने पिछले आंकड़ों को दोहराना चाहेगी लेकिन यह इस बार इतना आसान नहीं होगा.

पिछली बार उनके पास कांग्रेस पार्टी के खिलाफ बहुत से मुद्दे थे जिस वजह से भाजपा को सत्ता का स्वाद लगा लेकिन इस बार बहुत से मुद्दे भाजपा के खिलाफ हैं. नोट विमुद्रिकरण, जीएसटी, इवीएम मशीन, किसानों की अनदेखी जैसे कितने ही मुद्दों पर जनता नाराज हैं ऐसे में सत्ता पाने के लिए मोदी के नेतृत्व में भाजपा को एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ेगा.

इस चुनाव में अगर जादुई आंकड़ों तक अगर मोदी के बाद कोई पहुंचा सकता हैं तो वो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ही हैं. अमित शाह इस वक्त पार्टी के चाणक्य हैं जो अपनी चाणक्य नीति से पार्टी को एक बड़ी जीत दिला सकते है-

Amit Shah Lok Sabha Election

1. विपक्ष पर जोरदार हमला- अमित शाह अपनी चाणक्य नीति से विपक्ष को एक जुट होने से रोकने का प्रयास करेंगे. वह विपक्ष के कमजोरियों पर प्रहार कर उन्हें उसी में उलक्षा देंगे.

Amit Shah Lok Sabha Election

2. अपनी पार्टी और कार्यक्रताओं में जोश भरने का काम शाह बखूबी करते हैं. वह अपने कार्यक्रताओं को एक करने के लिए वो सारी कोशिश करेंगे जो वो कर सकते हैं.

Amit Shah Lok Sabha Election

3. गठबंधन का साथ- पूर्ण बहुमत से आने के बाद भी भाजना ने अपने साथ गठबंधन करने वाली पार्टियों को एक साथ रखा है. यही वजह हैं कि इस बार भी वो गठबंधन के कारणों को नकार नहीं सकते, उन्हें फिर से एक साथ लेकर चलने की शाह की रणनीति होगी.

Amit Shah Lok Sabha Election

4. राहुल का घेराव- शाह की सबसे बड़ी रणनीति यह होगी को वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को घेरने के लिए खुद और पीएम मोदी का इस्तेमाल करेंगे. इससे विपक्ष राहुल के मुद्दे पर ही उलझ कर रह जाएगीऔर चुनाव के मुद्दे से भटक जाएगी.

Amit Shah Lok Sabha Election

5. सोशल मीडिया का बेहतर उपयोग अगर कोई अबतक करता हैं तो वह सिर्फ भाजपा ही है. ऐसे में इस बार भी शाही की पहली प्रासंगिक्ता सोशल मीडिया पर मोदी की हवा बनाने की होगी.

ये वो पांच कारण हैं जो इस बार शाह की पार्टी को चुनाव में बादशाह बनाएगी. दोस्तों आपको क्या लगता हैं इस बार के चुनाव में क्या होगा। किसको कितनी सीट मिल सकती हमें जरुर बताएं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*