Connect with us

बॉलीवुड

Rajesh khanna ने अपनी शादी के दिन पुरानी गर्लफ्रेंड को जलाने के लिए उसके घर के सामने से निकाली थी अपनी बारात

rajesh khanna

Rajesh khanna- आसमान में कुछ सितारे ऐसे भी होते हैं जो कुछ समय के लिए दिखाई देते हैं और अपनी रोशनी छोड़ जाते हैं, फिर उन सितारों को कोई याद नहीं रखता. मगर कुछ सितारे ऐसे भी हैं जो सारी दुनिया में अपनी एक अलग छाप छोड़ जाते हैं. ऐसा ही एक सितारा था जिसने अपनी छोटी सी जिन्दगी में वो मुकाम पाया जो शायद ही कोई पाए. वो सितारा आज तो हमारे बीच नहीं है मगर उस सितारे की सादगी, अंदाज़ और उसकी मुस्कुराहट आज भी अमर है.

जी हाँ वो सितारा था, राजेश खन्ना जिन्हें प्यार से लोग “काका” जी कहते थे और उनके बचपन का नाम था जतिन खन्ना. 1966  में उनकी पहली फिल्म “आखरी ख़त” से राजेश खन्ना ने बॉलीवुड में कदम रखा. “राज़” “औरत” “बहारों के सपने” उनकी जो 1967-1968 के दौरान आई मगर उनको रातों रात शौहरत दिलाने वाली फिल्म बनी “आराधना” जो 1969 आई. फिल्म “आराधना” का वो गाना आज भी हर किसी की ज़बान पर है और अंताक्षरी में आ ही जाता है ” मेरे सपनो की रानी कब आयेगी तू ” वो दौर था 1970-1980 के बीच का जिस दौर में सम्मी कपूर , धर्मेंद, दिलीप कुमार, देवानानद, फ़िल्मी जगत पर छाए हुए थे, उस दौर में एक साधारण सा लड़का जिसका कोई भी ऐसा मित्र या संबंधी फिल्मी जगत से नहीं था. अपनी लगन और मेंहनत से उन सितारों से आगे निकल गया.

rajesh khanna

Rajesh khanna की जिंदगी से जुड़े कुछ मजेदार किस्से

अभिनेत्री “शबाना आजमी” ने अपने एक इंटरव्यू में राजेश खन्ना के बारे में बताया था कि मैंने इतना प्यार और मोहब्बत किसी और सितारे के लिए नहीं देखी थी. लोग उनको बहुत चाहते थे. उनकी एक झलक पाने के लिए घंटो खड़े रहते थे, एक किस्सा उन्होंने बयां किया कि राजेश खन्ना के पास एक सफ़ेद रंग की गाड़ी थी जिसमे बैठकर वो शूटिंग पर आया करते थे और जब शूटिंग खत्म करके जाने वाले होते थे तो उनकी सफ़ेद रंग की गाड़ी लाल रंग में दिखने लगती थी. लड़कियों की लिपस्टिक के निशान उनकी गाड़ी पर हर तरफ होते थे. लड़कियां उनपर मरती थी.

rajesh khanna

Rajesh khanna and Anju mahendran relationship story

बात करते है साल 1973 मार्च 27 की मुंबई का मशहूर बंगला “आशीर्वाद” कार्टर रोड जहा राजेश खन्ना रहा करते थे. उस दिन कार्टर रोड से एक बरात जानी थी कपाड़िया परिवार में. आशीर्वाद से कपाड़िया परिवार का रास्ता सीधा था. बारात निकल चुकी थी. पुलिस का बंदोबस्त सारे रास्ते पर था. बरात का रूट पहले से तह था. मगर राजेश खन्ना ने अचानक से बारात का रास्ता बदल दिया. अब उनकी बारात मुंबई के जेवीपीडी स्कीम के 7वे रोड पर बने एक खास घर की और मूढ़ गई.

आखिर यह घर किसका था? राजेश खन्ना को ऐसा करने की क्या जरूरत थी? यह वो घर था जहा राजेश खन्ना की एक घायल रिश्ते की यादें जुड़ी थी. वो घर था उनकी 7 साल तक रही प्रेमिका अंजू महेंद्रू का था जिनसे उन्होंने कुछ ही दिन पहले रिश्ता तोड़ा था. बहुत ही धूमधाम से 32 साल के सुपरस्टार अपनी 16 साल की दुल्हन को लेने जा रहे थे. राजेश खन्ना ने जानबूझकर ऐसा किया था. एक टूटे रिश्ते पर यह नमक छिड़कने जैसा था.

यह भी जरूर पढ़ेंराजेश खन्ना के घर लगातार अपने खून से लिखे पत्र भेज रही थी ये पागल लड़की, इस कहानी को पढ़कर आपके भी होश उड़ जायेंगे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in बॉलीवुड