दुनिया का एक ऐसा ऊंट जो मात्र 10 मिनट में पी जाता है 135 लीटर पानी, वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैंवैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

रेगिस्तान के कड़ी धूप में रहने वाले ऊंट महज 40 से 50 साल तक जीवित रहते हैं. तपती रेत पर चलना मानो अंगारों पर चलने जैसी बात होती है.

लेकिन ऊंट इस पर बड़ी आसानी से चल लेते है. यहां तक कि पूरा जीवन उस तपति रेत में ही गुजारते हैं. आखिर क्या कारण है जिससे इतना तपन होने के बावजूद ऊंट आसानी से अपना जीवन काट लेते हैं.

कठिन वातावरण में रहने वाले ऊंट को कई सारी समस्याओं से गुजरना होता है.आप ऐसे ही ऊंट से जुड़ी कुछ रोचक बातें इस आर्टिकल में जानेंगे.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

रेतभरी हवाएं 

जब भी रेगिस्तान में रेत भरी हवाएं चलती है तो ऊंट की पलकें और कानों के लंबे बाल इस चीज का बचाव करने में मदद करती है.आंखों और कानों पर लंबे बाल होने से रेत आंखों और कानों के अंदर नहीं जा पाती है. इसके अलावा वो अपना नाक को पूरी तरीके से बंद कर लेते हैं जिससे नाक में भी रेत नहीं जा सकती है.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

पानी का न मिलना

आपको मालूम होगा कि रेगिस्तान में पानी की कितनी बड़ी समस्या होती है.कड़ी धूप होने के कारण कई जगह पानी का जलस्तर कम हो जाता है.कभी ऐसा भी होता है कि पानी का मिलना मुश्किल होता है. इसके बावजूद ऊंट जीवित रहते हैं. दरअसल ऊंट एक हफ्ते से ज्यादा पानी के बिना और एक माह से ज्यादा खाने के बिना रह सकता है. बता दें कि एक ऊंट 10 मिनट में 135 लीटर पानी पी सकता है.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

कुबड़ करती है मदद

आपने ऊंट ऊपर एक कुबड़ देखा होगा. उस कुबड़ में ऊंट अपना वसा इकट्ठा करके रखते हैं. जिससे उनको महीनों तक ऊर्जा मिलती रहती है. तभी तो रेगिस्तान में खाना-पीना ना मिलने के बावजूद वह बने रहते हैं.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

ऊंट के चौड़े पैर

वही ऊंट के पैर चौड़े होते हैं.पैर का वजन रेत को फैला देता है और रेत धसती नहीं है. जिससे ऊंट आसानी से रेत पर चल पाते हैं.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

ऊंट के मोटे होंठ

लोगों को पता होगा कि ऊंट के होंठ मोटे होते हैं. लेकिन शायद ही किसी को यह मालूम होगा कि आखिर उनका होठ मोटा क्यों होता है? बता दें कि ऊंट का होठ इसलिए मोटा होता है ताकि वह रेगिस्तान पाए जाने वाले कांटेदार पौधों को खा सके. लंबी गर्दन से वह ऊच्चे वृक्ष के पत्तों को भी खाते हैं.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

रबर जैसी त्वचा

ऊंट के पेट और घुटनों में रबर जैसी त्वचा मौजूद होती है जिससे तपती रेत के संपर्क में आने के बावजूद ऊंट को वह महसूस नहीं होती. यह त्वचा ऊंट के 5 साल हो जाने के बाद बनने लगता है.

वैज्ञानिकों का खुलासा इसलिए ऊंट के होंठ मोटे होते हैं

ऊंट के शरीर पर परत

वैसे तो ऊंट पूरे शरीर की बनावट ऐसी होती है कि वह कठिन वातावरण को झेल सकते हैं.जिसमें की ऊंट के रंग और शरीर पर मोटी परत बेहद मदद करती है.

ऊंट के शरीर का रंग रेगिस्तान के मौसम में रहने में मदद करता है. शरीर पर मोटे परत ऊंट को धूप से बचाता है. यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं. (जया कुमारी)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*