सद्भावना फाउन्डेशन ने लगाये एक ही दिन में 100 से ज्यादा पौधे, फरीदाबाद के लोगों ने पेड़ों की रक्षा करने का किया संकल्प

सद्भावना फाउन्डेशन ने लगाये पौधे

सालों पहले तुमने मेरे आंगन में एक बीज बोया था, देखो कि आज उस पर फूल खिल आयें हैं, जब फूल ज़मीन पर गिरते हैं और मेरे हाथों को छुते हैं तो ऐसा लगता है कि बाबूजी तुमने मेरा हाथ पकड़ रखा है….

सद्भावना फाउन्डेशन ने लगाये पौधे

लगातार बदलता हुआ मौसम, इंसानों के लिए इस समय समस्या बनता जा रहा है. विश्व में शायद ही ऐसा कोई देश, प्रदेश या गांव को यहां पर बदलते मौसम की वजह से जनजीवन प्रभावित ना हो रहा हो. आज के इस भागदौड़ भरे समय में ऐसे बहुत ही कम व्यक्ति हैं जो पर्यावरण के बारे में सोचते हुए नजर आते हैं. हर किसी को गाड़ी बंगला चाहिए, आलिशान घर चाहिए लेकिन किसी को भी आज घर के सामने एक पेड़ नहीं चाहिए. वायुमंडल लगातार गर्म हो रहा है और पेड़ों के कम होने से हवा भी दूषित होती जा रही है.

सद्भावना फाउन्डेशन ने लगाये पौधे

लेकिन फरीदाबाद स्थित सद्भावना फाउन्डेशन ने यह संकल्प लिया है है कि उससे जुड़ा हर व्यक्ति अपने जीवन में कम से कम पांच पौधे तो जरूर लगायेगा. ताकि आने वाला समय में हमारी पीढ़ियां याद करते हुए यह जरूर बोलें कि यह पेड़ हमारे पापा-मम्मी, दादा-दादी ने हमें विरासत में दिया है.

सद्भावना फाउन्डेशन ने लगाये पौधे

सद्भावना फाउन्डेशन से जुड़े हर व्यक्ति का संकल्प है कि हम अपने नाम पर किसी सड़क, मोहल्ले या चौराहे का नाम नहीं रखना चाहते हैं बल्कि जो पेड़ हम लगाये उनके ऊपर हमारा नाम रहे, ताकि इतिहास में हम उन लोगों के साथ अपना नाम लिखवाकर जायेंगे जो पृथ्वी से बहुत कुछ लेने के बाद कुछ देकर भी जा रहे हैं.

सद्भावना फाउन्डेशन ने लगाये पौधे

भारतीय सनातन शास्त्रों ने व्यक्ति को पेड़, हवा, पानी और धरती की पूजा करनी इसलिए बताई है क्योकि हम इन सभी चीजों का दोहन बहुत अधिक ना करें. देव रूप में हम इनकी पूजा करें किन्तु आज जो हो रहा है वह संस्कारों के उल्ट हो रहा है. सद्भावना फाउन्डेशन का मुख्य उद्देश्य लोगों को उनकी जड़ों से जोड़ना है.

बीते दिन सद्भावना फाउन्डेशन द्वारा वृक्षारोपण कार्यक्रम का फरीदाबाद में आयोजन हुआ. इसमें 100 से अधिक पौधे लगाए गए.  संस्था के वालंटियरस ने अलग-अलग टोली बनाकर वृक्षारोपण किया. संस्था के अध्यक्ष फंत्रेश्वर झा जी,  सचिव दिनेश जी, कोषाध्यक्ष संदीप जी और विशेष आमंत्रित सदस्य सुजीत जी,  नीरज जी और अन्य सदस्य का काम सराहनीय रहा.

One Comment

  1. Good & appreciate your help

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*