Connect with us

रहस्य

जानिए कि आखिर क्यों हमको दिन में तारे नहीं नजर आते हैं, आसमान में 24 घंटे होते हैं तारे

stars-in-sky-at-day-time

जानिए कि आखिर क्यों हमको दिन में तारे नहीं नजर आते हैं-

यदि जन्म से मृत्यु तक कोई हमारे साथ होता है तो वह है पृथ्वी, आकाश, सूर्य चंद्रमा और तारे… इन्हें हम वह शक्ति कह सकते हैं तो कभी बदलती नहीं है और ना ही कभी किसी के लिए अलग होती है। ये हमेशा एक ही पड़ाव पर चलती रहती हैं लेकिन जहां तक बात इनके दृश्य और अदृश्य की है। तो ये दिन और रात के अनुसार जरूर बदलती है, जैसे पृथ्वी का घूमना, सूर्य का दिन में ही निकलना और तोरों व चंद्रमा का रात को दिखना।

आज हम केवल तारों से जुड़ी बात बताएंगे। तारें चंद्रमा के समान चमकने वाले पिंड हैं। जो हमें केवल रात में ही दिखाई देते हैं। अब आप सोच रहें होंगे कि तारे दिन में दिखाई क्यों नहीं देते, तो हम इसी के बारे में विस्तार से बताएंगे…. दरअसल तारों के रात में चमकने के पीछे एक खास कारण होता है। अब यहां पर बात प्रकाश की आती है, क्योंकि सूर्य का तेज अपने आकाश में सब कुछ ढक देता हैं। पृथ्वी के चारों ओर सघन वायुमंडल स्थित है, जिससे आकाश इतना ज्यादा रोशनी से भरपूर हो जाता है कि तारे का प्रकाश उसमें ढक जाता है।

क्यों दिन में तारे नहीं नजर आते हैं

इन सभी चीजों के पीछे वैज्ञानिक तथ्य होते हैं। जिसमें सूर्य के प्रकाश को प्रथम और सबसे अधिक प्रकाशमान माना गया है। इसकी ज्वाला इतनी तेज है कि हजारों, लाखों मीटर की दूरी पर भी जला देती हैं। अब ऐसे में तारों का प्रकाश दिखाई कैसे दे सकता है, जैसे ही पृथ्वी पर प्रकाश धीरे-धीरे कम होने लगता है तो प्रकाश के कम होने पर तारों की रोशनी चमकने लगती है। घोर अंधेरा होने पर इनकी चमक और भी बढ़ जाती है, इसलिए तारे दिन में नहीं दिखाई देते।

इन सभी कारणों में सबसे मुख्य बात वायुमंडल की होती है क्योंकि पृथ्वी के चारों ओर वायुमंडल है, जिसके कारण रोशनी चारों तरफ बिखर जाती हैं और पृथ्वी पर प्रकाश हो जाता है। साथ ही आकाश भी चमकदार दिखाई देने लगता है। यही बात यदि हम वहां करें जहां वायुमंडल नहीं है तो सोचिए वहां पर क्या होता होगा। दरअसल, चंद्रमा पर वायुमंडल नहीं है और यहीं कारण है कि वहां पर दिन और रात दोनों ही समय में तारों को देखा जा सकता है।

तारों से जुड़ी कुछ अन्य बातें

हम सभी तारों को अपनी आंखों से नहीं देख सकते क्योंकि इनका आकार सूर्य से भी बड़ा होता है और जो बेहद ऊपर स्थित होते हैं। इसके साथ हमें पता होना चाहिए कि हम अपनी आंखों से सिर्फ 9096 तारों को ही देख सकते हैं, बाकी को देखने के लिए दूरबीन की सहायता लेनी होगी।

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि तारों के भी अलग-अलग नाम होते हैं। जिन में सम्मिलित है ध्रुव तारा, Sirius, UY sciuti, WISE, आदि। हम आपको बता दें कि सबसे बड़ा तारा UY sciuti और सबसे छोटा तारा EBLM हैं।

ऐसे ही सबसे चमकीला तारा Sirius है जो इतना चमकता है कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। इसकी रोशनी पूरे सौरमण्डल के लिए अकेले ही काफी है।

सौरमंडल और वायुमंडल से जुड़ी जानकारी को समझना बहुत जरूरी है, इसलिए हमने आपको आज तारों के महत्व और उसके चमकने का कारण बतायें। आगे भी हम आपको अपडेट देते रहेंगे, यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो कमेंट करकें बताएं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in रहस्य