Connect with us

इंडिया

लोग हवाई जहाज की यात्रा से क्यों डरते हैं और कैसे हवाई यात्रा के डर से बाहर निकलें (Why do I have a fear of flying)

Aviophobia

लोग हवाई जहाज की यात्रा से क्यों डरते हैं (Fear Of Flying) – एरोप्लेन में सफर करना एक हाई स्टैंडर्ड यात्रा कहलाती है। हर दिन पूरी दुनिया में लगभग 20,000 हवाई जहाज उड़ान भरते हैं। अभी तक केवल 5% जनसंख्या ही हवाई यात्रा में बैठ पाई है। लेकिन धीरे-धीरे यह संख्या बढ़ रही है। कुछ लोगों का सपना होता है कि वह हवाई जहाज में बैठे और हवाई यात्रा का लुफ्त उठाएं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हवाई यात्रा करने में अधिकतर लोगों को डर लगता है। जो लोग पहली बार एरोप्लेन में बैठते हैं वो तो डरते ही है लेकिन कुछ लोग इसलिए डरते है कि कहीं कोई दुर्घटनाओं ना हो जाए। उन्हें डर लगता है कि हवाई यात्रा सफल होगी या नहीं।

दरअसल, हम आपको बता दें कि हर पांच व्यक्तियों में से एक व्यक्ति को हवाई जहाज में सफर करने से बेहद डर लगता है। इस डर को नाम दे दिया गया है जो Aviophobia (एवेफोबिया) कहलाता है। ज्यादातर लोगों को हवाई यात्रा करने में डर लगता है इसलिए वह कई बार अपनी हवाई यात्रा को रद्द कर ट्रेन में यात्रा करना ज्यादा सुलभ समझते है। लेकिन जरूरी नहीं कि जब आपको डर लगे तो आप हवाई यात्रा ना करें। इसमें बेहतर होगा कि अपने डर को खत्म करें। बेहतर होगा कि प्लेन में बैठने से पहले उस फ्लाइट की पूरी जानकारी रखें। जिससे आपको यात्रा करने में कोई समस्या ना हो और आप आराम से हवाई यात्रा कर सकें।

दरअसल, हवाई यात्रा के दौरान कई हादसे हो जाते हैं जिसको लेकर लोगों का हवाई यात्रा से विश्वास उठ जाता है और उन्हें बैठने में डर लगने लगता है। लेकिन हादसा हर बार वह यह भी तो नहीं हो सकता। अपने यात्रियों की सुरक्षा के लिए एयरलाइंस कंपनियां नई-नई सुविधाएं लाती रहती है। 

हवाई यात्रा करने में डर लगता है |  याद रखें ये पांच बातें…

Aviophobia
1.यदि आप पहली बार हवाई यात्रा कर रहे हैं तो आपके लिए बेहतर होगा कि इससे जुड़ी हर एक जानकारी को अच्छे से जान ले, ताकि आपको फ्लाइट में बैठने में अजीब ना लगे।

2. लोग फ्लाइट फोबिया के कारण डर का सामना नहीं कर पाते और हवाई यात्रा को रद्द ही कर देते है लेकिन जरूरी नहीं कि आप अपनी यात्रा ही आप रद्द कर दे इससे अच्छा है कि आप डर को हराकर फ्लाइट में बैठे और हवाई यात्रा का आनंद ले।

3. कई बार होता है कि फ्लाइट दुर्घटनाएं हमारे सामने आती हैं। जिससे हमें ऐसा लगता है कि कहीं हमारे साथ भी तो दुर्घटना ना हो जाए इसलिए अपने विचार को बदलें दुर्घटना होने का ख्याल अपने दिमाग से निकाल दें।

why people afraid from airplane journey

Aviophobia


4. फ्लाइट में हर तरह की सुविधाएं होती हैं। वहां एयर होस्टेज आपको हर तरह की परेशानी से निकालने में मदद करती हैं। यदि फ्लाइट में आपको कोई परेशानी हो तो अपनी एयर होस्टेज को बताएं और डर को बाहर निकालें।

5. सबसे ज्यादा जरूरी है कि फोबिया नाम की बीमारी को पीछे छोड़ते हुए फ्लाइट में जाकर अपना स्टैंडर्ड बढ़ाएं। अपने आप को स्ट्रांग बनाएं और मानसिक रूप से फ्लाइट में बैठने को तैयार हो जाए।

डिजिटल दुनिया में खुद को बदलना बहुत जरूरी है यदि आप अपने अंदर बदलाव लाएंगें तो ही आप आगे बढ़ पाएंगे।आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके बताएं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in इंडिया