Connect with us

स्पेशल

15 हजार रुपैय है योगी आदित्यनाथ के कानों के कुण्डलों की कीमत, जानिए योगी आदित्यनाथ महिलाओं जैसे कानों में कुण्डल क्यों पहना करते हैं

why-yogi-adityanath-wear-earrings

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार खबरों में बने रहते हैं. आपको बता दें कि योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री चुना जा रहा था तो उसी समय इस तरीके की खबरें सामने आ रही थी कि अब उत्तर प्रदेश एक सही हाथों में आ चुका है. एक योगी और एक संत ही उत्तर प्रदेश का भला कर सकता है और योगी आदित्यनाथ लगातार उसी दिशा में काम करते हुए नजर आ रहे हैं.

योगी आदित्यनाथ अपने कानों में कुंडल पहना करते हैं और हर कोई जानना चाहता है कि आखिर क्यों योगी आदित्यनाथ अपने कानों में कुंडल पहनते हैं. तो आइए आपको बताते हैं कि योगी जी के कानों में कुंडल की सच्चाई आखिर क्या है-

why-yogi-adityanath-wear-earrings

सबसे पहले तो आपको बता दें कि योगी आदित्यनाथ तो अपने कानों में जो कुंडल पहनते हैं उसकी कीमत ₹15000 के आसपास होती है. यह कुंडल कोई आम कुंडल नहीं हैं बल्कि यह खास कुंडल अष्ट धातु के बने होते हैं, जिनका वजन 20 ग्राम होता है.

इस समय बाजार में इनकी कीमत कुछ नहीं तो 15 से 20000 आराम से मिल जाती है और अगर यह एकदम शुद्ध अष्ट धातु के बने हैं तो इनकी कीमत ऊपर भी जाती हुई नजर आ सकती है. अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि एक आम और साधारण सा सन्यासी जो खुद को वैरागी बताता है वह 15 से ₹20000 के कुंडल जो कानों में पहने हुए रहता है.

why-yogi-adityanath-wear-earrings

दरअसल योगी आदित्यनाथ जिस नाथ संप्रदाय से आते हैं, उस नाथ संप्रदाय की एक खासियत है कि वहां पर जो भी संयासी संयास लेने आता है उसको कुछ समय के बाद अष्ट धातु के बने हुए इनको दलों को धारण करना ही होता है. इन्हीं कुंडल के आधार पर नाथ संप्रदाय के साधु को पहचाना जाता है और इनको देखकर हर कोई जान जाता है कि यह साधु नाथ संप्रदाय से है.

why-yogi-adityanath-wear-earrings

योगी आदित्यनाथ जी इन नाथ संप्रदाय से संबंध रखते हैं और लगातार गोरखनाथ पीठ से जुड़कर काम करते हुए नजर आ रहे हैं. अब आप समझ गए होंगे कि आखिर क्यों योगी आदित्यनाथ हमेशा अपने कानों में कुंडल पहन कर रखते हैं. यह कुंडल ही इनकी पहचान है जिसके आधार पर यह नाथ संप्रदाय से पहचाने जाते हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in स्पेशल