चैत्र नवरात्रि 2019 : कलश स्थापना विधि और मुहूर्त एवं तिथियां
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

सनातन धर्म

चैत्र नवरात्रि 2019 : कलश स्थापना विधि और मुहूर्त एवं तिथियां

Published

on

navratri-2019

चैत्र नवरात्रि 2019 : कलश स्थापना विधि और मुहूर्त एवं तिथियां

चैत्र नवरात्रि– 1 साल के अंदर 4 बार नवरात्रि आते हैं लेकिन अधिकतर लोग दो ही नवरात्रों के बारे में जानकारी रखते हैं. इन चार नवरात्रों में चैत्र नवरात्रि, आषाढ़ नवरात्रि, आश्विन नवरात्रि और माघ महीने में आने वाले नवरात्रि होते हैं, इन चारों में से चैत्र नवरात्रि और आश्विन नवरात्रि की प्रमुख होते हैं बाकी के दो कुछ खास लोग ही मनाते हुए नजर आते हैं, बाकी बचे हुए 2 नवरात्रि अघोरी और संत महात्मा लोग ही मनाते हैं.

 

चैत्र नवरात्रि :  सुबह 6 से 10 बजे तक है कलश स्थापना का मुहूर्त

साल 2019 में चैत्र नवरात्रि अप्रैल महीने की 6 तारीख से शुरू होने वाले हैं. 6 तारीख से शुरू होकर यह नवरात्रि 14 अप्रैल तक जाते हुए नजर आएंगे। आइए जानते हैं कि चैत्र नवरात्रों में इस बार कलश स्थापना का समय क्या है-

 

नवरात्रि पर कलश स्थापना मुहूर्त

6 अप्रैल 2019 को शुरू हो रहे चैत्र नवरात्रि के पहले दिन घट स्थापना का समय सुबह 6:00 बजे से सुबह 10:00 बजे तक रहने वाला है. 4 घंटे तक घट स्थापना का समय बताया जा रहा है. नवरात्रि के 9 दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा और अर्चना की जानी है. शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी माता, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री देवी की पूजा की जाती है, नवरात्रों के पहले दिन कलश स्थापित किया जाता है इसके बाद सभी दिन माता के सभी रूपों की पूजा की जाती है. जिस दिन माता के जिस रूप की पूजा होनी है उस दिन उसी रूप की पूजा करने से जातक को मां की शक्तियां प्राप्त होती हैं.

 

कलश स्थापना विधि

कलश स्थापना करने से पहले जातक को सुबह स्नानादि करने के बाद पूजा का संकल्प लेना होता है. संकल्प लेने के बाद मिट्टी की वेदी बनाकर उसमें जो बोए जाते हैं इसी वेदी कलश की स्थापना की जाती है. प्रतिदिन माता के इस कलर्स के सामने दीप जलाए जाते हैं और पूजा अर्चना की जाती है मंत्र जाप करने से मनोकामना शीघ्र पूरी होती है.

 

चैत्र नवरात्रि तिथि 2019

पहला नवरात्रि, पहली तिथि, 6 अप्रेल 2019, दिन शनिवार

-घटस्थापना

– शैलपुत्री पूजा

 

दूसरा नवरात्रि, द्वितीया तिथि, 7 अप्रेल 2019, दिन रविवार

– ब्रह्मचारिणी पूजा

 

तीसरा नवरात्रि, तृतीया तिथि, 8 अप्रेल 2019, दिन सोमवार

– चन्द्रघन्टा पूजा

 

चौथा नवरात्रि, चतुर्थी तिथि, 9 अप्रेल 2019, दिन मंगलवार

– कुष्माण्डा पूजा

 

पांचवां नवरात्रि, पंचमी तिथि, 10 अप्रेल 2019, दिन बुधवार

– स्कन्दमाता पूजा

 

छठा नवरात्रि, षष्ठी तिथि, 11 अप्रेल 2019, दिन बृहस्पतिवार

– कात्यायनी पूजा

 

सातवां नवरात्रि, सप्तमी तिथि , 12 अप्रेल 2019, दिन शुक्रवार

– महासप्तमी

– कालरात्रि पूजा

 

आठवां नवरात्रि, अष्टमी तिथि, 13 अप्रेल 2019, दिन शनिवार

– महाअष्टमी

– महागौरी पूजा

– सन्धि पूजा

 

नौवां नवरात्रि, नवमी तिथि, 14 अप्रेल, दिन रविवार

– नवरात्रि पारण

 

यह भी जरूर पढ़ें- इन 6 आश्चर्यजनक सबूतों को देखकर यकीन हो जायेगा कि भगवान हनुमान जी आज भी जिंदा हैं

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *