साबित होता है कभी धरती पर 25 फूट लम्बे दैत्यकार लोग और पिशाच रहते थे
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

रहस्य

दुनिया की सबसे खतरनाक खोजें जिनसे साबित होता है कभी धरती पर 25 फूट लम्बे दैत्यकार लोग और पिशाच रहते थे, आइए बताते हैं खोज से जुड़ी बातें

Published

on

history-of-human

(History of human evolution) साइंटिस्ट का जीवन कुछ इस तरह का होता है कि वह हमेशा किसी ना किसी खोज में जुटे रहते हैं. ऐसी खोज जिससे सामने आता हैं कि दुनिया का अस्तित्व कब शुरू हुआ और कैसे लोग यहां पर रहते थे. जिनसे सभी को एक विशेष जानकारी मिलती है.

इन सभी खोज में सबसे विशेष खोज  है तो वह है जमीन के अंदर की खोज. जमीन के जीवाश्म और कंकाल मिलते हैं. इन कंकाल से साइंटिस्ट कई विशेष रिसर्च करके पता लगाते हैं कि यह कंकाल किसके थे. आज हम आपको बताने जा रहे हैं, जिससे दैत्यकार इंसानों के अस्तित्व के बारें में पता चला.

history-of-human

घरती पर कभी रहते थे दैत्याकार लोग

एक बार 15 इंच की इंसानी उंगली की तस्वीर चर्चा में आई और अनुमान लगाया गया कि यह किसी दैत्य की है. जो जर्मन की वेबसाइट में खूब चर्चा में रही. ऐसे ही कुछ 2008 में जॉजिया के कॉकशस माउंटेन में हुआ. जहां पर कुछ ऐसी हड्डिया मिली, जिससे अनुमान लगाया गया कि यदि यह किसी इंसान की है तो वे 8 से 10 फीट लंम्बा होगा. जिसके बाद साइंटिस्ट प्रोफेसर वेकुआ की शोध करते-करते अचानक मृत्यु हो गई. जिसके बाद इन हड्डियों के चैप्टर को बंद कर दिया गया.

यह सभी बातें हैरान कर देंगी क्योंकि चट्टानों और पर्वतों ऐसे रहस्य देखने को मिलते हैं. जिनसे हमें मालूम होता है कि दुनिया की शुरुआती दौर में दैत्य जरूर रहें होंगे. दरअसल, ऐसी ही चट्टानों में बड़े-बड़े फुटप्रिंटस् मिले, जिनका परिणाम सामने आया तो पता चला कि ये आदिमानव की फुटप्रिंट्स थे. इनके शोध के करने के बाद बताया गया कि ये लाखों साल पुराने फुटप्रिंट्स थे. इस तरह के फुटप्रिंट सामने आते रहे हैं.

history-of-human

25 फुट का आदमी भी धरती पर होता था

दक्षिण अफ्रीका में फुटप्रिंट्स और स्विजरलैंड के बॉर्डर पर स्थित टाउन में एक और फुटप्रिंट मिला. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि यह 4 फुट लंबा था. जब 4 फुट लंबा फुटप्रिंट होने के कारण अनुमान लगाया गया कि यह 20 करोड़ साल पुराना है. एक और फुटप्रिंट्स के बारे में बता दें जो 1996 में कैलिफ़ोर्निया की पहाड़ी पर मिला. जो आपको जरूर आश्चर्य में कर देगा. यह फुटप्रिंट 5 फुट लंबा था. इन सबसे जो बात सामने आती है. वह यह है कि धरती पर इंसान से पहले दैत्यकार लोग रहते थे और इस तरह की खोज के जगह सामने आने लगी.

इक्वाडोर में एक पादरी ने बताया कि उन्हें कुछ हड्डी मिली हैं जो निशाचर क्लॉस डोना ने अपने रिसर्च परिणाम साबित किया कि वह इंसानी हड्डी थी. अनुमान लगाया गया कि जिस इंसान की है हड्डी है वह 25 फुट लंबा रहा होगा…

दोस्तों इस प्रकार की रिसर्च चट्टानों और पहाड़ी इलाकों में ज्यादा होती है जो साबित करती है कि दुनिया में दैत्याकार लोग रहते थे… परिणाम फुटप्रिंट्स और हड्डियों के रूप में आज भी मिलते है.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *