Kuldhara village history | कुलधरा का रहस्य | kuldhara haunted place in india
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

रहस्य

Kuldhara village history – कुलधरा का रहस्य | कुलधरा गांव की हकीकत। भारत की सबसे डरावनी जगह है | kuldhara haunted place in india

Published

on

kuldhara-village-story

kuldhara village history | कुलधरा गांव का इतिहास

Kuldhara village history- कुलधरा का नाम तो आपने सुना ही होगा, भारत का सबसे रहस्यमई गांव जहां पर भूतिया कहानियां पढ़ पढ़ कर हम बड़े हुए हैं और जिस गांव के अंदर जाने से आज भी लोगों को डर लगता है. एक ऐसे गांव की कहानी हम आपको बताने वाले हैं जहाँ आज भी आत्माओं को महसूस किया जाता है. कुलधरा का आखिर क्या रहस्य है? कुलधरा क्यों भारत का श्रापित गाँव बोला जाता है? कुलधरा में आखिर ऐसा क्या हुआ था कि रात ही रात में गांव खाली हो गया था और जिसके बाद से गाँव में भूतों का बसेरा हो चुका है? कुलधरा गांव की ऐसीही कहानियोंऔर रहस्य से आज हम आपको प्रचित कराने वाले हैं.

सरकार ने कई बार कोशिश की कि यह गाँव फिर से बस जाए लेकिन सरकार की कोशिश भी नाकाम हो चुकी हैं. कहते हैं कि कुलधरा गांव एक ऐसा गाँव है कि इस गांव में रहने वाले लोग पूरी तरीके से बर्बाद हो जाते हैं. आज भी अगर कोई समृद्ध इंसान यहाँ रहने लग जाए तो वह बर्बाद हो जाता है. तो आइये आज हम आपको कुलधरा गांव के रहस्य की सभी कहानियाँ बताते हैं-

 

कुलधरा गाँव क्यों खाली गया था? | kuldhara village ghost story in hindi

कुलधरा गांव जैसलमेर से कुछ 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यह एक छोटा सा गांव है लेकिन इस रहस्यमई गांव के बारे में भारत का बच्चा-बच्चा जानता होगा. इस गांव में रात्रि के समय इंसानों का जाना बिल्कुल मना है. यहां पर एक सरकारी बोर्ड भी लगा हुआ है जिसके ऊपर साफ-साफ लिखा हुआ है कि सूरज ढलने के बाद इस गांव में इंसान का रुकना पूरी तरीके से वर्जित है.

कहते हैं कि साल 1291 9891 के आसपास पालीवाल ब्राह्मण इस गांव में रहते थे. पालीवाल ब्राह्मणों के 600 घर गांव में थे. कुलधरा के आस पास 84 गांव और भी थे जहां पर पालीवाल ब्राह्मण ही रहते थे. कुलधरा के पालीवाल ब्राह्मण काफी मेहनती थे वैज्ञानिक तौर पर भी यह लोग काफी अधिक बुद्धिशाली थे. कुलधरा के गांव के मकान आज भी इस तरीके के बने हुए हैं कि यह गांव गर्मियों में भी अंदर से ठंडे रहते हैं. साथ ही कुछ इस तरीके की सुरंगी भी यहां पर बनी हुई मिलती है जो कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान तक जाती है ऐसा बताया जाता है लेकिन अब यह सभी बंद कर दी गई हैं.

ऐसे में सवाल उठता है कि जब यह गांव पालीवाल ब्राह्मणों का था और यहां पर रह रहे थे तो आखिर क्यों यह गांव आज भूतिया गांव बोला जाता है. इसके पीछे कहानी विख्यात है कि एक बार पालीवाल ब्राह्मणों पर वहां के दीवान सालम सिंह की बुरी नजर पड़ गई. सालम सिंह को एक लड़की पसंद आ गई थी और वह उस लड़की को हर किसी कोशिश में पाना चाहता था. पालीवाल ब्राहमण नहीं चाहते थे कि सालम सिंह उनकी बेटी से शादी करें या जोर जबरदस्ती करें. अपनी बेटी को बचाने के चक्कर में एक ही रात में यहां से घर छोड़ कर चले गए थे. एक ही रात में कुलधरा का यह गांव पूरी तरीके से खाली हो गया था. जाते-जाते पालीवाल इस गांव को कभी ना बसने का श्राप देकर गए थे और यही कारण है कि यह श्राप आज तक चलता हुआ नजर आ रहा है.

 

कुलधरा गांव बुद्विमान ब्राह्मणों का गाँव था |kuldhara village history | कुलधरा गांव का इतिहास

कुलधरा का यह गांव पालीवाल ब्राह्मणों का गांव था. आपको बता दें कि पालीवालो का इतिहास आप जब पड़ेंगे तो आपको पता चलेगा कि यह ब्राह्मण काफी बुद्धिजीवी होते थे. वैज्ञानिक आधार के ऊपर यह अपने काम किया करते थे. कुलधरा गांव का निर्माण भी काफी अधिक वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर हुआ है. यहां पर कभी भी पानी और हरियाली की कमी नहीं होती है. आपको बता दें कि इस गांव में आज भी पानी की कमी नहीं है, धरती के नीचे काफी पानी है. जल को जमा करने की योजना है यह काफी पहले से ही अपने गांव में लागू कर चुके थे.

पालीवाल ब्राह्मण जब इस गांव को छोड़कर गए तो कुछ ब्राह्मण ब्राह्मण रह गए और उनमें से कुछ लोग राजपूतों में भी शामिल हो गए. जिन लोगों को दीवान से बदला लेना था वह राजपूत रहे हो गए और जो लोग अपने आपको ब्राह्मण ही रखना चाहते थे वह राजस्थान और दिल्ली के आसपास राज्यों में बसते हुए नजर आए हैं. आज भी राजस्थान में कुछ लोग पालीवाल ऐसे भी हैं जो राजपूत हैं.

 

कुलधरा गांव में रात के समय जाना मना क्यों है? 

बोला जाता है कि कुलधरा के गांव में रात में रुकना इंसानों के लिए खतरे से खाली नहीं होता है. यहां पर कई तरीके की एक्टिविटीज रिकॉर्ड की गई है जिनसे यह साबित होता है कि यहां पर आत्माओं का राज है. बेशक आज के समय में अगर हम ऐसी बातें करते हैं तो यह अंधविश्वास बोला जाएगा लेकिन यहां पर जिस तरीके के वीडियो रिकॉर्ड हुए हैं और जिस तरीके की हरकतें रिकॉर्ड हुई है तो उसके बाद हर कोई यह माना जा सकता है कि निश्चित रूप से आत्माएं होती है और कुलधरा के गांव में इस तरीके की चीजें आज भी देखी और महसूस की जा सकती हैं.

कुलधरा का यह गांव सालों तक खाली पड़ा रहा और ऐसा बताया जाता है कि पालीवाल ब्राह्मणों के पूर्वजों की आत्माएं यहां पर रह रही हैं. जब पालीवाल ब्राह्मण अपने गाँव को छोड़कर जा रहे थे तो उन्होंने इस गांव को श्राप दिया था कि यह गांव फिर कभी बस नहीं पाएगा और यहां पर अपने पूर्वजों की आत्माओं को रहने के लिए उन्होंने बुला लिया था. यही कारण है कि आज भी गांव में इस तरीके की चीज़ों को महसूस किया जाता है रात के समय यहां पर खड़ी गाड़ियों के ऊपर पैर या फिर हाथों के निशान बन जाते हैं कई बार गाड़ियों के ऊपर खून के धब्बे नजर आते हैं. इस गांव के घरों में तरह-तरह की आवाज निकलती हुई रातों को महसूस की जाती है.

 

कुलधरा गांव का भूतियाँ तालाब

कुलधरा गांव के अंदर एक तालाब भी है और यह तालाब सबसे अधिक भूतिया बोला जाता है. यहां पर जाने वाले व्यक्ति को आत्महत्या जैसे चीज दिमाग में आने लगती हैं. कई बार इस तालाब के पास में महसूस किया गया है कि दूसरी दुनिया की शक्तियां यहां पर रह रही हैं और वह आदमी को अपने बस में करती हुई नजर आती हैं, यहां पर जाना खतरे से खाली नहीं होता है.

 

कुलधरा गाँव का रहस्य क्या है? | kuldhara village mystery

कुलधरा गांव का रहस्य बताना काफी मुश्किल है लेकिन विज्ञान बोलता है कि यह गांव कुछ इस तरह की वास्तु शास्त्र से बना है कि इसकी जमीन के नीचे पानी की मात्रा बढ़ चुकी है और सालों पहले ही यहां पर काई जैसी चीज बढ़ने लगी थी जिसके कारण यहां पर रहना मुश्किल हो गया था और पालीवाल ब्राह्मण गांव छोड़ कर चले गए थे.

वहीँ तो बोला जाता है कि पालीवाल ब्राह्मणों का यहां पर काफी मात्रा में सोना जमा था. इस सोने को लेकर कई बार लड़ाई भी हुई और बाद में इस तरीके की कहानियां यहां पर फैला दी गई कि यहां पर भूत और आत्मा रहती हैं ताकि बाहर की दुनिया के लोगों ने और खजाने की खोज में ना आयें.

कुलधरा गांव का रहस्य भी है कि यहां पर कई बार इस तरीके की शक्तियों को महसूस किया गया जिसको की आत्मा और भूत प्रेत का नाम देते हैं. यहां पर वाकई जाने पर महसूस होता है कि यह गांव निश्चित रूप से बाहर की दुनिया से काफी अलग है. कुलधरा गांव में कई बाबाओं की कहानियां विख्यात हैं बोला जाता है कि रात को यहां पर एक दूध बांटने वाला बाबा आता है जिसका दूध कभी नहीं लेना चाहिए. तो कोई कहता है कि रात में यहां पर पायल और चिल्लाने जैसी आवाज आती है लेकिन कुलधरा गांव के पीछे आखिर सच्चाई क्या है इसका सच आज तक कोई भी नहीं जान पाया है.

दुनिया की सबसे खतरनाक जगह, यहाँ जो आदमी गया है वो ज़िंदा कभी बचकर लौटा नहीं है, सरकार ने लगा रखा है प्रतिबंध

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *