क्या आजम खान को भारत देश से बाहर निकाल देना चाहिए? लोकसभा चुनाव 2019
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

पॉलिटिक्स

जया प्रदा के ऊपर आजम खान की अश्लील टिप्पणी के बाद आजम खान के चुनाव लड़ने पर क्या रोक लगा देनी चाहिए?

Published

on

-आजम खान की जया प्रदा पर अश्लील टिपण्णी

-अंडरवियर जैसे शब्दों का किया इस्तेमाल

-महाभारत की तरह द्रोपदी का चीरहरण हुआ है

लोकसभा चुनाव 2019 के अंदर नेताओं की जुबान फिसलना शुरू हो गई है और जिस तरीके की भाषा का इस्तेमाल नेता कर रहे हैं तो निश्चित रूप से इन चुनावों में इस बार मर्यादा और नैतिकता जैसी चीजें पीछे छूटती हुई नजर आ रही हैं. समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने जिस तरीके से जयाप्रदा के ऊपर अभद्र टिप्पणी की है तो उसके बाद अब साफ हो गया है कि नेता निश्चित रूप से नैतिकता का साथ छोड़ चुके हैं.

चुनाव में वही नेता जीतेगा जिसकी जुबान ज्यादा गंदी होगी और जिसकी जुबान से अश्लील शब्द ज्यादा निकलेंगे, शायद यह शर्त चुनाव जीतने के लिए रखी गई है, तभी आजम खान जैसे नेता किसी महिला के लिए इतनी गंदी टिप्पणी करते हुए नजर आ रहे हैं कि खुलेआम मंच पर शायद ही कोई पागल इंसान भी इस तरीके की टिप्पणी नहीं करेगा.

इन चार सवालों के आप हमें जवाब दें-

  1. क्या आजम खान को सजा होनी चाहिए ?

  2. क्या समाजवादी पार्टी से आजम खान को बाहर कर देना चाहिए?

  3. क्या चुनाव आयोग को आजम खान पर बैन लगा देना चाहिए?

  4. क्या आजम खान को भारत देश से बाहर निकाल देना चाहिए?

रामपुर से बीजेपी के उम्मीदवार जयाप्रदा इस बार लोकसभा 2019 में चुनाव लड़ रही हैं. रामपुर वही जगह है जहां से कभी जयाप्रदा समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ती थी और आजम खान के नेतृत्व में लोकसभा के अंदर में सांसद बनती हुई नजर आती थी, इस बार जयाप्रदा को भारतीय जनता पार्टी से टिकट दिया गया है और लोकसभा चुनाव 2019 में जयाप्रदा रामपुर से चुनाव लड़ रही हैं. ऐसा नहीं है कि आजम खान ने लोकसभा चुनाव 2019 में पहली बार इस तरीके की अभद्र टिप्पणी की हो इससे पहले भी आजम खान को 8 से 9 बार नोटिस मिल चुका है.

आजम खान जिस समय बयान दे रहे थे तो उन्होंने कहा कि वह जानते थे कि जिसको उंगली पकड़कर रामपुर ला रहे हैं वह धोखेबाज़ होगा. 15 से 20 साल लग गए कि पार्टी इस चेहरे को नहीं पहचान पाई है लेकिन आजम खान ने बोला कि वह 15 दिन के भीतर समझ चुके थे कि यह व्यक्ति खाकी कलर का अंडरवियर पहनता है.

आजम खान के इस बयान के बाद यह तो साफ हो गया है कि आजम खान के अंदर किसी भी तरीके का डर नहीं है. लोकतांत्रिक देश में आजम खान को कोई भी डर नहीं लग रहा है. अगर आजम खान इसी तरीके का बयान पाकिस्तान की किसी लेडी पर या फिर सऊदी अरब में किसी राजनेता महिला के लिए देते तो शायद आजम खान का सर कलम कर दिया जाता लेकिन भारत में बोलने की आजादी है और इसी बोलने की आजादी का फायदा आजम खान जैसे नेता को उठाते हुए नजर आ रहे हैं.

आजम खान को भारत में पूरी आजादी मिली हुई है और आजम खान कोई भी बयान बिना किसी डर के देते हुए नजर आते हैं. इसके बाद भी अगर कोई मुस्लिम नेता है कि मुस्लिमों के लिए भारत सुरक्षित नहीं है तो उसके ऊपर हंसी आना लाजमी होगा. आजम खान जैसे नेता रामपुर को अपना घर समझ रहे हैं और एक अलग राज्य के रूप में चलाते हुए दिख रहे हैं.

आप कमेंट करके जरूर बताएं कि क्या आजम खान के ऊपर लोक लोकसभा चुनाव 2019 लड़ने पर रोक लगानी चाहिए? क्या इलेक्शन कमिशन को कठोर से कठोर कदम उठाते हुए आजम खान को आजीवन राजनीति से बाहर कर देना चाहिए? क्या समाजवादी पार्टी को इस समय आजम खान को समाजवादी पार्टी से बाहर कर देना चाहिए? आपके कमेंट का हमें इंतजार रहेगा.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *