14 साल निरंतर मेहनत के बाद एमेलिया इयरहार्ट बन पाई पहली महिला पायलट, नर्स से लेकर पायलट बनने का रोचक सफरनामा - Hindi News | Latest News | opinion | viral stories from India | DVI News
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

खास लोग

14 साल निरंतर मेहनत के बाद एमेलिया इयरहार्ट बन पाई पहली महिला पायलट, नर्स से लेकर पायलट बनने का रोचक सफरनामा

Published

on

facts-about-first-feamle-aviator-amelia-earhart

हर संघर्ष को पार करके आगे बढ़ती रही हैं महिलाएं, हर मुश्किल का सामना करके मंजिल तक पहुंच ही जाती हैं. इतिहास गवांह है, कि नारी ने नर से ज्यादा आगे बढ़कर काम किया. ये अपनी बहादुरी से हमेशा से इतिहास रचती चली गई हैं. तो आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बता रहे हैं जिनके बारें शायद आप नहीं जानते होंगे जिनका साहस सुनकर आप दंग रह जाएंगे.

ये वो महिला है जिन्होंने बड़े सपने ना केवल देखे बल्कि उन्हें पूरा भी किया. इस महिला का नाम एमेलिया इयरहार्ट है. ये 1897 में अमेरिका के एटचीसन, कंसास में अच्छें घरानें में जन्मीं. जिन्होंनें बचपन से बहादुरी के काम किए और महिला का नाम को ऊचांईयों तक ले जाने के अपना जीवन को संघर्षों से भर दिया. ये एक नर्सिंग की छात्रा थी जो कॉलिज के समय तक केवल एक आम महिला ही थी. लेकिन इन्होंने ऐसा क्या किया कि ये जग प्रसिद्ध हो गई.

First female aviator Amelia Earhart wiki

facts-about-first-feamle-aviator-amelia-earhart

दरअसल, इन्हें हवाई यात्रा पसंद थी, इन्हें पहली बार 1918 में प्लेन में बैठने का मौका मिला. इन्हें नर्सिंग के सिलसिले से रेड क्रॉस के सौजन्य से कनाडा के लिए फ्लाइट का सफर तय करना था. इस दिन ये बड़ी खुश थी क्योंकि इनकों फ्लाइट यात्रा बेहद पसंद थी. जब प्लेन ने लैंड किया तो इन्हें वो शकुन मिला जिसके लिए ये जी रहीं थी और उसी दिन सन् 1918 में इन्होंने निश्चय कर लिया कि ये एक दिन प्लेन को जरूर उड़ाना हैं. उस समय में ये सपना ना केवल बड़ा था बल्कि बहुत मुश्किल भी था.

facts-about-first-feamle-aviator-amelia-earhart

लेकिन इन्होंने हिम्मत नहीं हारी और 14 साल की कड़ी मेहनत के बाद 1932 में प्लेन को इस कदर उड़ाया कि इतिहास रच डाला. एमेलिया इयरहार्ट ने बिना रूके अकेले ही पूरे प्रशांत महासागर को पार कर दिया. जो बड़ा ही सहासी और सहारनिए काम था. ये पहली महिला पायलट थी जिन्होंने बिना रूके एक झटके में प्रशांत महासागर को पार किया.

facts-about-first-feamle-aviator-amelia-earhart

इनके इस साहस से आज तक लाखों महिलाओं को सीख मिलती है कि अगर कुछ करने की ठान ली जाए तो बड़ी से बड़ी मंजिल को हासिल किया जा सकता है.   

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बतांए.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *