पृथ्वी से चंद्रमा का एक हिस्सा दिखाई क्यों देता है
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

विज्ञान

पृथ्वी से चंद्रमा का एक हिस्सा दिखाई क्यों देता है

Published

on

moon from earth

चंदा मामा दूर के पुए पकाए पुर के…आप खाएं थाली में… मुन्ने को खिलाएं प्याली में… प्याली गई टूट मुन्ना गया रूट.. इस कविता को सुनकर आपको अपने बचपन की याद आ गई होगी किस तरह हम कविताओं में चंदा को मामा कहते थे। यही चंद्रमा हमारे बचपन का वह हिस्सा है। जिसने बहुत बार रोते हुए चेहरे को हंसाया है।. आपको याद होगा कि बचपन में जब कोई बच्चा चांद को पकड़ने की जिद करता है तो मां पानी में चंदा को दिखाकर कि बच्चों के मन को खुश कर देती हैं।

जरा याद करिए कि पानी में चांद का एक हिस्सा दिखता है और वैसे ही चंद्रमा का पृथ्वी से भी एक ही हिस्सा दिखाई देता है। क्यों पृथ्वी से चंद्रमा पूरा नहीं दिखाई देता.. ये बात सोचने वाली है कि हमेशा चांद का हमें एक भाग क्यों दिखाई देता है ।

इसके पीछे का कारण है कि चंद्रमा एक पिंड है जो पृथ्वी की परिक्रमा करता रहता है और चंद्रमा पृथ्वी का उपग्रह है। जिस कारण चंद्रमा पृथ्वी की परिक्रमा करता रहता है। यह पृथ्वी की परिक्रमा 27 दिन और 8 घंटों में पूरी करता है और इतने ही समय में अपने अक्ष पर भ्रमण करता रहता है। जिस कारण है पृथ्वी से चंद्रमा का हमेशा एक ही हिस्सा दिखाई देता है। चंद्रमा सूर्य के बाद सबसे महत्वपूर्ण ग्रह है… आइए जानते हैं चंद्रमा के बारे में कुछ और बातें |

1. आपको बता दें कि आकार के हिसाब से चंद्रमा पृथ्वी का एक चौथाई भाग है।

2. चंद्रमा पर वायुमंडल नहीं होता वहां पर बात करना संभव नहीं है।

3.चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्री जा चुके हैं। जो नए-नए रिसर्च करते रहते हैं। चंद्रमा पर कुल 6 झंडे गाड़े जा चुके हैं।

4.चंद्रमा का गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से 6 गुना कम है और पृथ्वी का वजन चंद्रमा से 80 गुना ज्यादा है।

5. बेशक आपको चंद्रमा जगमगाता हुआ दिखाई दे लेकिन इसका अपना कोई प्रकाश नहीं होता, यह सूर्य के प्रकाश को ही प्रवर्तित कर चमकता है।

6.चंद्रमा के प्रकाश को पृथ्वी तक आने केवल 1.3 सेकंड लगती है।

7.क्या आप जानते है कि इसे जीवाश्म ग्रह भी कहा जाता है।

8.पूर्णिमा के दिन चंद्रमा का आकार और भी बड़ा हो जाता है। यानि कि पूर्णिमा के दिन इसका आकार आधे चांद से 5 गुना ज्यादा होता है।

9.माना जाता है कि चंद्रमा हर साल पृथ्वी से 4 सेनीटीमीटर दूर चला जाता है।

10.यदि चंद्रमा नहीं होता तो पृथ्वी की घुमने की गति ज्यादा होती और जिसके कारण  दिन में 20 घंटे के लगभग ही होते।

यह भी पढ़ें- जानिए क्यों आज तक कोई नहीं चढ़ पाया कैलाश पर्वत? अनसुलझे हैं कई रहस्य

दुनिया के 5 सबसे अच्छे एयरपोर्ट, जो किसी राजा के महल या 5 सितारा होटल से लाख गुना ज्यादा अच्छे हैं

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *