नरेंद्र मोदी 2019 के लोकसभा चुनाव हारेंगे तो उसके 5 मुख्य कारण
Connect with us
https://www.dvinews.com/wp-content/uploads/2019/04/vote.jpg

स्पेशल

अगर नरेंद्र मोदी 2019 के लोकसभा चुनाव हारेंगे तो उसके 5 मुख्य कारण यह होंगे

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को तो लगता है कि बीजेपी इस बार 300 से ज्यादा सीटें देश में जीतने वाली है. देश में जिस तरीके का माहौल है तो उस समय बीजेपी की जीत को लेकर हमेशा और बीजेपी के नेता काफी आश्वस्त नजर आ रहे हैं.

Published

on

narendra-modi-2019-election

(नरेंद्र मोदी 2019 के लोकसभा चुनाव)

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर नरेंद्र मोदी देश में जगह-जगह रैलिया करते हुए नजर आ रहे हैं. नरेंद्र मोदी और बीजेपी के नेताओं को ऐसा लगता है कि लोकसभा चुनाव 2019 में भी बीजेपी एक बार फिर से रिकॉर्ड तोड़ मतों से सत्ता में वापस आती हुई नजर आएगी. 2014 में जिस तरीके से बीजेपी ने नरेंद्र मोदी की आंधी में सत्ता का सफर तय किया था बीजेपी को इस बार भी ऐसा लगता है कि वह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही ही फिर से एक बार सत्ता में वापस आ जाएगी.

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को तो लगता है कि बीजेपी इस बार 300 से ज्यादा सीटें देश में जीतने वाली है. देश में जिस तरीके का माहौल है तो उस समय बीजेपी की जीत को लेकर हमेशा और बीजेपी के नेता काफी आश्वस्त नजर आ रहे हैं. आइए आपको वो 5 मुख्य कारण बताते हैं कि अगर बीजेपी और नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव हारते हैं तो उसके पीछे मुख्य कारण कौन से रहने वाले हैं-

narendra-modi-2019-election

i) रोजगार जैसी समस्या से पीड़ित है देश का युवा

रोजगार लोकसभा चुनाव 2019 में एक बड़ा मुद्दा साबित हो सकता है. आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी और बीजेपी की सरकार ने 2014 में जिस तरीके के वादे किए थे वैसे रोजगार नहीं हो पाए हैं. रोजगार ऐसा मुद्दा है जिससे कि दुखी होकर देश का युवा एक बार फिर से नेतृत्व बदलता हुआ नजर आ सकता है. देश में नरेंद्र मोदी की सरकार के अंदर स्टार्टअप और डिजिटल इंडिया जैसे वादे जो किए गए थे लेकिन स्टार्टअप करने के लिए धन की व्यवस्था करने में कहीं न कहीं सरकार विफल होती हुई नजर आई है. देश का युवा बैंक और फाइलों के बीचो में ही चक्कर लगाता हुआ नजर आया है. स्टार्टअप कहीं ना कहीं खत्म हुआ है. रोजगार एक ऐसा मुद्दा है जिसके ऊपर लोकसभा चुनाव में बीजेपी हारी हुई नजर आ सकती है.

 

ii) नोटबंदी और जीएसटी

नोटबंदी और जीएसटी जैसी चीजों पर निश्चित रूप से देश की जनता और व्यापारियों को काफी परेशानी हुई है. नोट बंदी और उसके बाद जीएसटी को लागू कर देने से देश में  व्यापार करने वालों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा है. नोटबंदी पर देश की जनता को विश्वास था कि इससे कहीं ना कहीं कालेधन पर लगाम लग जाएगी और जो धन छुपा हुआ है वह देश की अर्थव्यवस्था में एक बार फिर से  इस्तेमाल होना शुरू हो जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हो पाया है. नोटबंदी और जीएसटी जैसी चीजों पर कांग्रेस लगातार नरेंद्र मोदी को घेर रही है और यह मुद्दा भी बीजेपी और मोदी की हार का कारण बन सकता है.

 

iii) राफेल विमान भ्रष्टाचार

राफेल विमान को लेकर जिस तरीके से  राहुल गांधी और कांग्रेस ने मोदी को घेरा है तो उसको लेकर भी कहीं न कहीं नरेंद्र मोदी की छवि खराब होती हुई नजर आई है. राफेल जैसे मुद्दे पर अगर नरेंद्र मोदी सही तरीके से अपना पक्ष नहीं रख पाए तो यह मुद्दा भी कहीं ना कहीं नरेंद्र मोदी के खिलाफ चला जाएगा. खुद को चौकीदार बोलने वाले नरेंद्र मोदी के ऊपर भी अब कहीं ना कहीं उंगलियां उठने लगी हैं.

narendra-modi-2019-election

iv) किसानों की हालत

देश में जिस तरीके से किसानों की हालत लगातार गिरती जा रही है और कांग्रेस कर्ज माफी जैसे वादे निभाती हुई दिख रही है तो उसके कारण देश का किसान वर्ग कहीं न कहीं कांग्रेस की तरफ जा रहा है और अब अब अब बीजेपी से दूर हट रहा है. नरेंद्र मोदी ने 2014 में किसानों को लेकर जो वादे किए थे वह पूरे नहीं होते हुए नजर आ रहे हैं और यह मुद्दा भी कहीं ना कहीं नरेंद्र मोदी की हार का कारण बन सकता है.

यह पढ़ें- क्या नरेंद्र मोदी ने सच में कहा था कि काले धन की वापसी पर हर गरीब के खाते में 15 लाख आ जाएंगे?

v) कश्मीर में आतंकवाद है समस्या

आतंकवाद जैसे मुद्दे पर नरेंद्र मोदी की सरकार कश्मीर में अगर कोई ठोस कदम नहीं उठा पाई है तो इस कारण से भी नरेंद्र मोदी कि सरकार को लोकसभा चुनाव 2019 में हार का सामना करना पड़ सकता है. लगातार कश्मीर में आतंकवाद फिर से एक बार सर उठाता हुआ नजर आ रहा है और बीजेपी की सरकार आतंकवाद को यहां पर रोकने में नाकाम हो रही है.

इन मुख्य मुद्दों की वजह से नरेंद्र मोदी की सरकार को लोकसभा चुनाव 2019 के अंदर हार का सामना करना पड़ सकता है. अगर बीजेपी हारती है और नरेंद्र मोदी सत्ता से वापिस होते हुए नजर आते हैं तो उसके पीछे यही कारण नजर आएंगे.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *